विदेश मंत्री जयशंकर ने प्रौद्योगिकी और डेटा के उपयोग में समानता, निष्पक्षता की वकालत की

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 20, 2021   07:27
विदेश मंत्री जयशंकर ने प्रौद्योगिकी और डेटा के उपयोग में समानता, निष्पक्षता की वकालत की
प्रतिरूप फोटो

सिडनी डायलॉग में डिजिटल परिचर्चा के दौरान विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा, अगर हमें अच्छा करना है, तो यह महत्वपूर्ण है कि लोकतांत्रिक समाज संतुलन कायम करें क्योंकि लोकतंत्र तभी आगे बढ़ेगा जब यह स्पष्ट हो जाएगा कि लोकतंत्र का कोई लाभ है। सिडनी डायलॉग उभरती, महत्वपूर्ण और साइबर प्रौद्योगिकियों पर केंद्रित एक मंच है।

नयी दिल्ली| विदेश मंत्री एस जयशंकर ने शुक्रवार को कहा कि नयी प्रौद्योगिकी और डेटा के उपयोग में बुनियादी नियमन व समानता तथा निष्पक्षता की भावना होनी चाहिए।

सिडनी डायलॉग में डिजिटल परिचर्चा के दौरान उन्होंने कहा कि नया डिजिटल स्पेस और डेटा की दुनिया को पूंजीवाद के 19वीं सदी के सिद्धांत पर नहीं चलाया जा सकता है और उन्हें विनियमित करने के लिए प्रभावी मानदंडों की आवश्यकता है।

इसे भी पढ़ें: विदेश मंत्री एस जयशंकर ने सिंगापुर के वरिष्ठ मंत्रियों से मुलाकात की

जयशंकर ने कहा, अगर हमें अच्छा करना है, तो यह महत्वपूर्ण है कि लोकतांत्रिक समाज संतुलन कायम करें क्योंकि लोकतंत्र तभी आगे बढ़ेगा जब यह स्पष्ट हो जाएगा कि लोकतंत्र का कोई लाभ है। सिडनी डायलॉग उभरती, महत्वपूर्ण और साइबर प्रौद्योगिकियों पर केंद्रित एक मंच है।

विदेश मंत्री ने कहा, एक तरफ हमें आजादी चाहिए, हमें खुलेपन और प्रवाह की जरूरत है, लेकिन दूसरी तरफ बुनियादी नियमन, समानता तथा निष्पक्षता की भावना होनी चाहिए।

इसे भी पढ़ें: जयशंकर ने अबू धाबी के क्राउन प्रिंस से मुलाकात की, व्यापक रणनीतिक संबंधों पर वार्ता की





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।