जनता के नाम जयंत चौधरी का पैगाम, 'बीजेपी ने धार्मिक उन्माद फैलाकर जनता को बांटने का किया काम'

जनता के नाम जयंत चौधरी का पैगाम, 'बीजेपी ने धार्मिक उन्माद फैलाकर जनता को बांटने का किया काम'

जयंत चौधरी ने उत्तर प्रदेश के परिवारजनों के नाम से खुले खत में लोगों से कहा कि कोरोना के इस कठिन समय में अपना और अपनों का ध्यान रखते हुए आप सभी सकुशल होंगे, ये आशा करता हूं। आप सभी अपने मताधिकार का प्रयोग करके अपनी सरकार चुनेंगे। लोक के मान का सम्मान आप सभी के मत पर निर्भर रहेगा।

पश्चिमी उत्तर प्रदेश के जाटलैंड में अखिलेश के साथ चुनावी मैदान में चाल ठोर रहे रालोद अध्यक्ष जयंत चौधरी ने जनता के नाम एक पैगाम जारी किया है। उन्होंने चिट्ठी लिखकर योगी सरकार पर निशाना साधा है। जयंत चौधरी ने राज्य की जनता से बदलाव के लिए समर्थन की मांग की है। उन्होंने लिखा है कि वो सदैव जनता के हितों के संरक्षण के लिए समर्पित रहेंगे।

चिट्ठी में क्या लिखा है

जयंत चौधरी ने उत्तर प्रदेश के परिवारजनों के नाम से खुले खत में लोगों से कहा कि कोरोना के इस कठिन समय में अपना और अपनों का ध्यान रखते हुए आप सभी सकुशल होंगे, ये आशा करता हूं। आप सभी अपने मताधिकार का प्रयोग करके अपनी सरकार चुनेंगे। लोक के मान का सम्मान आप सभी के मत पर निर्भर रहेगा। अपने दादा और पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह का जिक्र करते हुए जयंत ने लिखा है कि 'उत्तर प्रदेश, भारत के पूर्व प्रधानमंत्री, मेरे पूजनीय दादाजी श्रद्धेय स्व चौधरी चरण सिंह जी की कर्मभूमि है। उन्होंने देश के किसानों को उनके अधिकार दिलाए और वंचित, ग्रामीण समाज का सहारा बने। उनके उपरांत आप सभी के सहयोग और साथ से मेरे पिताजी स्व. चौधरी अजित सिंह जी ने किसानों-मजदूरों के आर्थिक उत्थान का रास्ता खोला। उनके सच्चे और सरल स्वभाव को आप सभी ने खुद महसूस किया होगा. वे दोनों हमारी स्मृतियों में सदैव रहेंगे।

इसे भी पढ़ें: रक्षक ही भक्षक बन जाए तो क्या होगा ? अखिलेश ने आतंकियों के केस को ड्राप करने का किया था काम: जेपी नड्डा

योगी सरकार पर साधा निशाना

जयंत ने अपनी चिट्ठी में योगी सरकार पर भी जमकर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि बीते 5 साल सत्ता में बैठे लोगों की दुर्भावनाओं और कुशासन के कारण जनविरोधी रहे हैं. सत्ताधीशों ने सामाजिक द्वेष, जातिगत और धार्मिक उन्माद फैलाकर जनता को बांटने का काम किया है। इन 5 सालों में दलितों पर अत्याचार और महिला की सुरक्षा भी सवालों के घेरे में रही। जयंत ने कहा कि से में आज की जिम्मेदारियों के निर्वाह में आप सभी की भागदारी भी मेरे लिए बहुत जरूरी है। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।