आरसीपी सिंह पर गिरी गाज, JDU ने गंभीर आरोप लगाते हुए भेजा नोटिस, जानें पूरा मामला

RCP Singh
ANI Image
अनुराग गुप्ता । Aug 06, 2022 11:50AM
जदयू ने आरसीपी सिंह पर भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगाते हुए नोटिस जारी किया है। नालंदा जिला जदयू के दो साथियों का साक्ष्य के साथ परिवाद प्राप्त हुआ है। जिसमें यह उल्लेख है कि अब तक उपलब्ध जानकारी के अनुसार आपके एवं आपके परिवार के नाम से वर्ष 2013 से 2022 तक अकूत अचल संपत्ति निबंधित कराया गया है।

पटना। बिहार की सत्तारूढ़ जनता दल (यूनाइटेड) ने अपनी पार्टी के पूर्व अध्यक्ष आरसीपी सिंह पर गंभीर आरोप लगाते हुए उन्हें शो कॉज नोटिस भेजा है। जिसके बाद से बिहार की राजनीति में हलचल तेज हो गई। आपको बता दें कि आरसीपी सिंह को नोटिस नालंदा जिले के जेडीयू प्रखंड अध्यक्ष के आरोप के आधार पर भेजा गया है।

इसे भी पढ़ें: 'बिकता है उसे खरीदो, डरता है उसे डराओ', ED की कार्रवाई पर भड़के तेजस्वी ने कहा- हम नहीं डरते 

इस नोटिस के मुताबिक, जेडीयू ने आरसीपी सिंह पर भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगाए हैं। नोटिस में लिखा गया कि, नालंदा जिला जदयू के दो साथियों का साक्ष्य के साथ परिवाद प्राप्त हुआ है। जिसमें यह उल्लेख है कि अब तक उपलब्ध जानकारी के अनुसार आपके एवं आपके परिवार के नाम से वर्ष 2013 से 2022 तक अकूत अचल संपत्ति निबंधित कराया गया है। जिसमें कई प्रकार की अनियमितताएं दृष्टिगोचर होती है।

नोटिस के मुताबिक, आरसीपी सिंह से कहा गया कि आप लंबे समय से दल के सर्वमान्य नेता नीतीश कुमार के साथ अधिकारी एवं राजनीतिक कार्यकर्ता के रूप में काम करते रहे हैं। आपको नीतीश कुमार ने दो बार राज्यसभा, पार्टी का राष्ट्रीय महासचिव (संगठन), राष्ट्रीय अध्यक्ष तथा केंद्र में मंत्री के रूप में कार्य करने का अवसर पूर्ण विश्वास एवं भरोसे के साथ दिया।

नोटिस में कहा गया कि आप इस तथ्य से भी अवगत हैं कि नीतीश कुमार भ्रष्टाचार के जीरो टॉलरेंस पर काम करते रहे हैं और इतने लंबे सार्वजनिक जीवन के बावजूद नेता पर कभी कई दाग नहीं लगा और न उन्होंने कोई संपत्ति बनाई। ऐसे में आरसीपी सिंह से तत्काल उनका जवाब मांगा गया है।

इसे भी पढ़ें: बिहार में एक ओर सुखा तो दूसरी ओर बाढ़ का खतरा, उत्तर में कई नदियां उफान पर 

जदयू द्वारा नोटिस भेजे जाने के संबंध में आरसीपी सिंह की तरफ से अभी तक कोई भी बयान सामने नहीं आया है। लेकिन पार्टी द्वारा आरसीपी सिंह पर की गई कार्रवाई से यह माना जा रहा है कि आगे उनकी मुश्किलें और भी ज्यादा बढ़ सकती हैं। जदयू ने आरसीपी सिंह पर 58 अचल संपत्तियां बनाने का आरोप लगाया है।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़