जिन्ना वाली आजादी के नारे लगाना गद्दारी है: छात्रों के प्रदर्शनों पर बोले रामदेव

जिन्ना वाली आजादी के नारे लगाना गद्दारी है: छात्रों के प्रदर्शनों पर बोले रामदेव

जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय और जामिया मिलिया इस्लामिया में हो रहे प्रदर्शनों पर बाबा रामदेव ने नाराजगी जताते हुए कहा कि जो लोग जिन्ना की आजादी के नारे लगा रहे हैं। वो गलत है। यह देश सभी का है। रामदेव ने कहा कि हर वक्त छात्रों को आंदोलन नहीं करना चाहिए।

नयी दिल्ली। योगगुरू बाबा रामदेव ने आर्थिक मुद्दे पर लगातार लग रहे झटकों की चर्चा की। कॉन्स्टिट्यूशन ऑफ़ इंडिया में शुक्रवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए बाबा रामदेव ने कहा कि सरकार को महंगाई और बेरोजगारी सबसे बड़ी समस्या है। इस पर सरकार को काम करना चाहिए।

उन्होंने कहा कि विपक्ष को देशहित का ख्याल रखना चाहिए। हिन्दुस्तान जितना भाजपा और मोदी का है उतना ही रामदेव और विपक्ष का भी है। इसी के साथ रामदेव ने जनसंख्या नित्रंयण के बारे में सोचने की भी बात कही।  

इसे भी पढ़ें: पेरियार: जिनके खिलाफ बोलने की हिमाकत दक्षिण में कोई नहीं करता और देवी-देवताओं पर क्या थी उनकी सोच

आजादी के नारे लगाना है गलत

जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय और जामिया मिलिया इस्लामिया में हो रहे प्रदर्शनों पर बाबा रामदेव ने नाराजगी जताते हुए कहा कि जो लोग जिन्ना की आजादी के नारे लगा रहे हैं। वो गलत है। यह देश सभी का है। रामदेव ने कहा कि हर वक्त छात्रों को आंदोलन नहीं करना चाहिए। गांधी वाली आजादी, नेहरू वाली आजादी, भगत सिंह वाली आजादी की बात समझ में भी आती है लेकिन जब जिन्ना वाली आजादी के नारे लगाते हैं वो तो गद्दारी है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।