कांग्रेस सरकारों ने नेताजी सुभाष चंद्र बोस के योगदान, विरासत को तवज्जो नहीं दिया : जितेंद्र सिंह

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  सितंबर 24, 2021   16:49
कांग्रेस सरकारों ने नेताजी सुभाष चंद्र बोस के योगदान, विरासत को तवज्जो नहीं दिया : जितेंद्र सिंह

केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने शुक्रवार को पिछली कांग्रेस सरकारों पर राजनीतिक और वंशवादी कारणों से नेताजी सुभाष चंद्र बोस के योगदान और विरासत को तवज्जो नहीं देने का आरोप लगाया।

नयी दिल्ली। केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने शुक्रवार को पिछली कांग्रेस सरकारों पर राजनीतिक और वंशवादी कारणों से नेताजी सुभाष चंद्र बोस के योगदान और विरासत को तवज्जो नहीं देने का आरोप लगाया। सिंह यहां नॉर्थ ब्लॉक में नेताजी सुभाष चंद्र बोस के जीवन और उनके योगदान पर एक डिजिटल प्रदर्शनी का उद्घाटन करने के बाद कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे।

इसे भी पढ़ें: पिता नहीं चाहता था बेटा लगवाए कोरोना वैक्सीन!12 वर्षीय बच्चा पहुंचा कोर्ट

उन्होंने कहा कि यह कार्यक्रम अपने गुमनाम नायकों के गौरव को बहाल करने तथा इतिहास द्वारा विभिन्न वजहों से उनके साथ किए गए अन्याय को दूर करने का एक अवसर है। सिंह ने कहा कि नेताजी सुभाष चंद्र बोस, बाबा साहेब आंबेडकर, श्यामा प्रसाद मुखर्जी और सरदार पटेल सहित गुमनाम नायकों और स्वतंत्रता सेनानियों के योगदान को पुनर्जीवित करने और उनके बारे में लोगों को याद दिलाने के लिए देश प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का ऋणी है।

इसे भी पढ़ें: लद्दाख के पार्षद कोंचोक स्टैनज़िन का दावा, चीनी मौजूदगी के कारण नहीं चरा पा रहे मवेशी, ग्रामीणों को ही रही दिक्कत

उन्होंने आरोप लगाया कि ऐसे नायकों के बलिदानों और उपलब्धियों को राजनीतिक और वंशवादी कारणों से उत्तरोत्तर कांग्रेस सरकारों द्वारा हमेशा तवज्जो नहीं दिया गया।’’ एक आधिकारिक बयान के अनुसार कार्मिक राज्य मंत्री सिंह ने कहा कि संकल्प से सिद्धि की अगले 25 वर्षों की यात्रा निश्चित रूप से भारत को एक विश्वगुरु के रूप में स्थापित करेगी और इसलिए युवा पीढ़ी को राष्ट्र की सेवा में खुद को फिर से समर्पित करने का संकल्प लेने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि 15 अगस्त, 2023 तक चलने वाले समारोह में पांच स्तंभ होंगे - स्वतंत्रता संग्राम, 75 साल पर विचार, 75 साल पर उपलब्धियां, 75 साल पर कार्रवाई और 75 साल पर संकल्प। सिंह ने कहा कि कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग हर साल विभिन्न विषयों पर केंद्रित प्रदर्शनियों का आयोजन करेगा।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।