कोविड-19: कर्नाटक सरकार ने 23 दिसंबर से दो जनवरी तक लागू किया रात्रि कर्फ्यू

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  दिसंबर 23, 2020   17:55
कोविड-19: कर्नाटक सरकार ने 23 दिसंबर से दो जनवरी तक लागू किया रात्रि कर्फ्यू

मुख्यमंत्री ने एक प्रश्न के उत्तर में कहा कि सुबह छह से रात 10 बजे तक सभी गतिविधियां सामान्य रूप से चलेंगी और रात 10 बजे के बाद किसी को बाहर नहीं निकलना चाहिए। उन्होंने कहा कि इस संबंध में जल्द ही दिशा-निर्देश जारी किए जाएंगे।

बेंगलुरु। कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने बुधवार को बताया कि राज्य सरकार ने कोविड-19 के नए स्वरूप (स्ट्रेन) के संक्रमण को काबू करने के लिए एहतियातन बुधवार रात से दो जनवरी तक रात्रि कर्फ्यू लागू करने का फैसला किया है। मुख्यमंत्री ने स्वास्थ्य मंत्री के सुधाकर, कोविड-19 के लिए राज्य की तकनीकी सलाहकार समिति (टीएसी) के सदस्यों और वरिष्ठ अधिकारियों के साथ मुलाकात के बाद यह घोषणा की। उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘‘कोविड-19 वायरस के नए स्वरूप के कारण और भारत सरकार एवं तकनीकी सलाहकार समिति की सलाह के अनुसार, आज (बुधवार) से दो जनवरी, 2021 तक रात 10 बजे से सुबह छह बजे तक रात्रि कर्फ्यू लागू करने का फैसला किया गया है।’’

येदियुरप्पा ने कहा, ‘‘यह पूरे राज्य में लागू रहेगा।.. मैं सभी लोगों के अपील करता हूं कि वे कोविड-19 के नए स्वरूप के संक्रमण को रोकने में सहयोग करें।’’ पड़ोसी राज्य महाराष्ट्र में भी ब्रिटेन में कोरोना वायरस के नए प्रकार के फैलने के मद्देनजर नगर निगम क्षेत्रों में रात्रि कर्फ्यू लागू करने की सोमवार को घोषणा की गई थी। येदियुप्पा ने कहा कि विदेशों से राज्य में आने वाले लोगों को कोविड-19 संबंधी जांच रिपोर्ट लानी होगी, जिसमें उनके संक्रमित नहीं होने की पुष्टि हो और यह जांच राज्य आने से 72 घंटे पहले ही कराई गई होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि हवाईअड्डे पर जांच के लिए सभी प्रबंध करा दिए गए हैं और स्वास्थ्यकर्मियों को तैनात किया गया है, साथ ही सुनिश्चित किया जा रहा है कि कोई भी बिना जांच शहर में दाखिल नहीं हो सके। 

इसे भी पढ़ें: तेलंगाना में कोरोना वायरस संक्रमण के 635 नए मामले, 4 और रोगियों की मौत

मुख्यमंत्री ने एक प्रश्न के उत्तर में कहा कि सुबह छह से रात 10 बजे तक सभी गतिविधियां सामान्य रूप से चलेंगी और रात 10 बजे के बाद किसी को बाहर नहीं निकलना चाहिए। उन्होंने कहा कि इस संबंध में जल्द ही दिशा-निर्देश जारी किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि स्कूल और कॉलेज खोले जाने के बारे में पहले ही चर्चा की जा चुकी है और बताया जा चुका है कि कक्षा 10वीं और 12वीं के लिए स्कूल एक जनवरी से खुलेंगे। मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘हम दो दिन में बताएंगे कि स्थिति में कोई बदलाव आता है या नहीं। फिलहाल, कक्षाएं एक जनवरी से चालू होंगी।’’ इससे पहले सुधाकर ने टीएसी सदस्यों के साथ विस्तृत विचार-विमर्श किया जिनमें वरिष्ठ स्वास्थ्य विशेषज्ञ शामिल हैं। सुधाकर ने संवाददाताओं से कहा कि कार्यक्रम, उत्सव और नववर्ष संबंधी पार्टी आदि सभी गतिविधियां 10 बजे रात तक पूरी कर ली जानी चाहिए और यह फैसला जन स्वास्थ्य के मद्देनजर लिया गया है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।