झुग्गी झोपड़ी के निवासियों के लिए केजरीवाल ने शुरू की आवास योजना, बांटे ''प्रमाण पत्र''

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  दिसंबर 24, 2019   18:27
झुग्गी झोपड़ी के निवासियों के लिए केजरीवाल ने शुरू की आवास योजना, बांटे ''प्रमाण पत्र''

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने झुग्गी झोपड़ी के निवासियों के लिए मंगलवार को ‘मुख्यमंत्री आवास योजना’ का आरंभ किया और कहा कि उनकी आम आदमी पार्टी सरकार दिल्ली के प्रत्येक नागरिक को पक्का घर मुहैया कराएगी।

नयी दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने झुग्गी झोपड़ी के निवासियों के लिए मंगलवार को ‘मुख्यमंत्री आवास योजना’ का आरंभ किया और कहा कि उनकी आम आदमी पार्टी सरकार दिल्ली के प्रत्येक नागरिक को पक्का घर मुहैया कराएगी। मुख्यमंत्री के अनुसार झुग्गी झोपड़ी में रह रहे 65,000 परिवारों को मंगलवार को प्रमाण पत्र बांटे गए और उन्हें जल्दी ही पक्के घर दिए जाएंगे। इस अवसर पर केजरीवाल ने कहा कि पिछले 70 वर्षों में किसी भी सरकार ने झुग्गी झोंपड़ी में रहने वालों के लिए कुछ नहीं किया।  उन्होंने कहा कि वितरित किए गए प्रमाण पत्र यह सुनिश्चित करेंगे कि इन झुग्गी झोपड़ियों को भविष्य में ढहाया नहीं जाएगा। 

इसे भी पढ़ें: केजरीवाल ने हेमंत को जीत की दी बधाई, बोले- सरकार ने झारखंड में अच्छा प्रदर्शन नहीं किया

दिल्ली शहरी आश्रय सुधार बोर्ड को झुग्गी झोपड़ी के निवासियों के लिए पक्के घर बनाने की जिम्मेदारी दी गई है।  बोर्ड ने पक्के घर के लाभार्थियों की संख्या जानने के लिए इस वर्ष जून में एक सर्वेक्षण शुरू किया था जिसमें अब तक 65,000 परिवारों को दर्ज किया जा चुका है।  केजरीवाल ने कहा, “हम सबके लिए आज यह गर्व और प्रसन्नता का क्षण है। दिल्ली सरकार के सर्वेक्षण में दर्ज हुए झुग्गी झोपड़ी निवासियों को पक्के घर मिलेंगे।”  उन्होंने कहा, “यह प्रमाण पत्र आपकी झुग्गी झोपड़ी के न टूटने, उन पर कब्जा न होने और पक्के घर मिलने का आश्वासन है। 





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।