• उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी की पुण्यतिथि पर किया उन्हे नमन

उप्र के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने आज पूर्व प्रधानमंत्री भारतरत्न श्रद्धेय अटल बिहारी वाजपेयी की तृतीय पुण्यतिथि पर अपने सरकारी आवास-7 कालिदास मार्ग पर उनके चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित कर उन्हे नमन किया तथा भावपूर्ण व आत्मिक श्रद्धांजलि अर्पित की।

देश के 75 वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर सूचना निदेशालय मंे आजादी के अमृत महोत्सव समारोह का आयोजन किया गया। सूचना निदेशक ने आजादी के लिए शहीद होने वाले स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों को नमन एवं श्रृद्धासुमन अर्पित किया।  जिन मूल्यों के लिए स्वतंत्रता संग्राम सेनानी जिये उन मूल्यों को तन-मन-धन से लागू करने और उनके सपनों को साकार करने का अनुरोध कमजोर से कमजोर वर्ग तक शासन की नीतियां पहुंचे तथा वंचितों के साथ न्याय हो, यही हमारे प्रदेश की नीति-सूचना निदेशक। देश के 75 वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर सूचना एवं जन सम्पर्क विभाग, पं0 दीनदयाल उपाध्याय सूचना परिसर मंे आजादी के अमृत महोत्सव समारोह का आयोजन किया गया। इस अवसर पर निदेशक सूचना, श्री शिशिर द्वारा झण्डारोहण के पश्चात उत्तर प्रदेश भारत स्काउट्स एण्ड गाइड्स द्वारा कलर बैण्ड के माध्यम से राष्ट्रगान की भव्य प्रस्तुति दी गयी। शिशिर ने देश की आजादी के लिए शहीद होने वाले स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों को नमन एवं श्रृद्धासुमन अर्पित करते हुये कहा कि उनका बलिदान देशवासियों के लिए अमूल्य है। उन्होंने अधिकारियों को सम्बोधित करते हुये उनसे आग्रह किया कि जिन मूल्यों के लिए स्वतंत्रता संग्राम सेनानी जिये उन मूल्यों को तन-मन-धन से अंगीकार करना है और उनके सपनों को साकार करना है। सूचना निदेशक ने कहा कि हमारे देश ने काफी तरक्की की है और भारत का नाम आज विश्व पटल पर अत्यन्त गर्व के साथ लिया जाता है। विभिन्न क्षेत्रों में उत्तर प्रदेश की रैकिंग भी देश में प्रथम स्थान पर है। कमजोर से कमजोर वर्ग तक शासन की नीतियां पहुंचे तथा वंचितों के साथ न्याय हो, यही हमारे सरकार की नीति है। कोविड वारियर्स को उनके योगदान हेतु सराहना की गयी। इस अवसर पर विभागीय आडिटोरियम में वर्व डान्स ग्रुप के सदस्यों द्वारा गणेश वंदना व अन्य सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति दी गयी, जिसे श्री विक्की राज द्वारा कोरियोग्राफ किया गया और एंकरिंग आर0जे0 राहुल द्वारा की गयी। कार्यक्रम में विभाग के विशेष कार्याधिकारी/संयुक्त निदेशक, श्री हेमंत कुमार सिंह, उप निदेशक, श्री हरिशंकर त्रिपाठी, श्री ओम प्रकाश राय, श्री हंसराज, श्री अंजुम नकवी, श्री दिनेश कुमार सहगल व अन्य अधिकारीगण सहित स्काउट्स एण्ड गाइड्स से स्टेट ऑर्गनाइजिंग कमिश्नर (गाइड), श्रीमती कामिनी श्रीवास्तव, स्टेट ऑर्गनाइजिंग कमिश्नर (स्काउट), श्री राजेन्द्र सिंह हंसपाल, स्टेट प्रोजेक्ट कोआर्डिनेटर, सुश्री शुभांगी श्रीवास्तव एवं डिस्ट्रिक्ट सेक्रेटरी, श्री सुरेन्द्र सिंह यादव तथा डिस्ट्रिक्ट आर्गनाइजिंग कमिश्नर (स्काउट) श्री विजय प्रसाद शर्मा सहित सूचना विभाग के अधिकारी/कर्मचारी उपस्थित रहे।

इसे भी पढ़ें: मेरठ: दो मासूम बेटियों की हत्या करने वाले आरोपी पिता को पुलिस ने किया गिरफ्तार

विगत 24 घंटों में पशु टीकाकरण की संख्या 26367 तथा अब तक कुल पशु टीकाकरण की संख्या 4,02,534 है

उत्तर प्रदेश के राहत आयुक्त श्री रणवीर प्रसाद ने वर्षा की स्थिति से अवगत कराते हुए बताया कि प्रदेश के वर्तमान में सभी तटबन्ध सुरक्षित हैं, कहीं भी किसी प्रकार की चिन्ताजनक परिस्थिति नहीं है। उन्होंने बताया कि गंगा-गाजीपुर, बलिया, शारदा नदी पलियाकला खीरी, घाघरा-अयोध्या, बलिया, राप्ती बलरामपुर, बूढ़ी राप्ती सिद्धार्थनगर, रोहिणी महाराजगंज तथा क्वानों चन्द्रीपघाट-गोंडा में खतरे के जलस्तर से ऊपर बह रही हैं। गत 24 घंटे में प्रदेश में 2.2 मि0मी0 औसत वर्षा हुई है, जो सामान्य वर्षा से 8.6 मि0मी0 के सापेक्ष 26 प्रतिशत है। इस प्रकार प्रदेश में 01 जून, 2021 से अब तक 483.9 मि0मी0 औसत वर्षा हुई, जो सामान्य वर्षा 501.8 मि0मी0 के सापेक्ष 96 प्रतिशत है। प्रदेश के वर्षा से प्रभावित जनपदों मंे सर्च एवं रेस्क्यू हेतु एन0डी0आर0एफ0, एस0डी0आर0एफ0 तथा पी0ए0सी0 की कुल 59 टीमें तैनाती की गयी है, 3248 नावें बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में लगायी गयी है तथा 624 मेडिकल टीमें लगायी गयी है। एन0डी0आर0एफ0, एस0डी0आर0एफ0 द्वारा 33062 लोगों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया गया। प्रसाद ने बताया कि अब तक कुल 35226 ड्राई राशन किट वितरित किए गये हैं। अब तक कुल 232184 फूड पैकेट वितरित किए गए हैं। प्रदेश में 1036 बाढ़ शरणालय तथा 1263 बाढ़ चौकी स्थापित की गयी है। प्रदेश में विगत 24 घंटों में अब तक कुल 736 पशु शिविर स्थापित किये गये हैं। विगत 24 घंटों में पशु टीकाकरण की संख्या 26367 तथा अब तक कुल पशु टीकाकरण की संख्या 4,02,534 है।

खारा नहर प्रणाली की राजवाहा कासिमपुर के टोरेन्ट क्रासिंग पर नहर की सुरक्षा की परियोजना हेतु 97.50 लाख रूपये स्वीकृत

सिंचाई एवं जल संसाधन विभाग द्वारा जनपद सहारनपुर के अन्तर्गत खारा नहर प्रणाली की राजवाहा कासिमपुर के टोरेन्ट क्रासिंग पर नहर की सुरक्षा के लिए परियोजना हेतु प्राविधानित धनराशि 195 लाख रूपये के सापेक्ष 97.50 लाख रूपये परियोजना के अवशेष कार्यों पर पर व्यय करने के लिए अवमुक्त करने की स्वीकृति प्रदान की गयी है। इस सम्बंध में विशेष सचिव सिंचाई श्री मुश्ताक अहमद की ओर से 16 अगस्त, 2021 को शासनादेश जारी किया गया है। शासनादेश में कहा है कि इस परियोजना पर सक्षम स्तर से तकनीकी स्वीकृति प्राप्त करने के पश्चात ही कार्य प्रारम्भ किया जाय। इसके साथ ही परियोजना को निर्धारित समय के अन्दर गुणवत्ता के साथ पूरा कराया जाय। इसके अलावा धनराशि को व्यय करते समय समय-समय पर जारी सुसंगत वित्तीय निर्देशों का कड़ाई से अनुपालन सुनिश्चित किया जाय। शासनादेश में यह भी कहा गया है कि नियमानुसार समस्त आवश्यक वैधानिक अनापत्तियां एवं पर्यावरणीय क्लीयरेंस सक्षम स्तर से प्राप्त करके ही निर्माण कार्य कराया जाय। परियोजना में यह भी सुनिश्चित किया जाय कि डुप्लीकेसी न हो स्वीकृत धनराशि का स्वीकृत परियोजना पर ही व्यय किया जाय, ऐसा न किये जाने पर कोई अनियमितता होने पर सम्पूर्ण जिम्मेदारी विभाग की होगी।

खारा नहर प्रणाली की राजवाहा कासिमपुर के टोरेन्ट क्रासिंग पर नहर की मरम्मत एवं क्षमता पुर्नस्थापन परियोजना हेतु 100 लाख रूपये स्वीकृत

सिंचाई एवं जल संसाधन विभाग द्वारा जनपद सहारनपुर के अन्तर्गत खारा नहर प्रणाली की मरम्मत एवं क्षमता पुर्नस्थापन की परियोजना हेतु प्राविधानित धनराशि 370.17 लाख रूपये के सापेक्ष 100 लाख रूपये परियोजना के अवशेष कार्यों पर पर व्यय करने के लिए अवमुक्त करने की स्वीकृति प्रदान की गयी है। इस सम्बंध में विशेष सचिव सिंचाई श्री मुश्ताक अहमद की ओर से 16 अगस्त, 2021 को शासनादेश जारी किया गया है। शासनादेश में कहा है कि इस परियोजना पर सक्षम स्तर से तकनीकी स्वीकृति प्राप्त करने के पश्चात ही कार्य प्रारम्भ किया जाय। इसके साथ ही परियोजना को निर्धारित समय के अन्दर गुणवत्ता के साथ पूरा कराया जाय। इसके अलावा धनराशि को व्यय करते समय समय-समय पर जारी सुसंगत वित्तीय निर्देशों का कड़ाई से अनुपालन सुनिश्चित किया जाय। शासनादेश में यह भी कहा गया है कि नियमानुसार समस्त आवश्यक वैधानिक अनापत्तियां एवं पर्यावरणीय क्लीयरेंस सक्षम स्तर से प्राप्त करके ही निर्माण कार्य कराया जाय। परियोजना में यह भी सुनिश्चित किया जाय कि डुप्लीकेसी न हो स्वीकृत धनराशि का स्वीकृत परियोजना पर ही व्यय किया जाय, ऐसा न किये जाने पर कोई अनियमितता होने पर सम्पूर्ण जिम्मेदारी विभाग की होगी।

मुख्यमंत्री नगरीय अल्पविकसित एवं मलिन बस्ती विकास योजनान्तर्गत अवशेष कार्यों को पूर्ण करने हेतु 6.655 लाख रूपये स्वीकृत

उत्तर प्रदेश सरकार ने वित्तीय वर्ष 2021-22 के लिए मुख्यमंत्री नगरीय अल्पविकसित एवं मलिन बस्ती विकास योजनान्तर्गत जनपद लखनऊ की नगर निगम के तहत लखनऊ की अल्पविकसित बस्तियों में इण्टरलाकिंग रोड व नाली निर्माण कार्यों से सम्बंधित परियोजना के अवशेष कार्यों को पूर्ण करने हेतु द्वितीय/अंतिम किश्त के रूप में 6.655 लाख रूपये की वित्तीय स्वीकृति प्रदान की है। इस सम्बंध में नगरीय रोजगार एवं गरीबी उन्मूलन कार्यक्रम विभाग द्वारा शासनादेश जारी कर निदेशक राज्य नगरीय विकास अभिकरण को आवश्यक निर्देश जारी कर दिये गये हैं। निर्गत शासनादेश के अनुसार मानक व गुणवत्ता आदि को सुनिश्चित करते हुए कार्य इस प्रकार कराये जायें कि वे उपलब्ध धनराशि से ही निर्धारित समय सीमा में पूर्ण हो जाये तथा जिसका समय से स्थानीय निवासियों को मिल सके।

इसे भी पढ़ें: मेरठ पुलिस ने दोहरे हत्याकांड का किया खुलासा, आरोपी आशिक के साथ एक और गिरफ्तार

आजादी का अमृत महोत्सव-इण्डिया/75’’ के तहत विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन

‘‘आजादी का अमृत महोत्सव-इण्डिया/75’’ भारत के स्वतंत्रता के गौरवशाली 75 वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर प्रदेश के दिव्यांगजन सशक्तीकरण विभाग द्वारा संचालित डॉ0 शकुन्तला मिश्रा राष्ट्रीय पुनर्वास विश्वविद्यालय में लायंस क्लब इण्टरनेशनल फाउन्डेशन द्वारा विश्वविद्यालय के महिला छात्रावास परिसर में छात्राओं की सुुविधा के लिए निःशुल्क सेनेट्री वेडिंग मशीन स्थापित की गयी है। महिला सशक्तीकरण के तहत स्थापित सेनेट्री वेडिंग मशीन से छात्राएं लाभान्वित होंगी। इसी प्रकार उ0प्र0 शासन के दिशा-निर्देशों के क्रम में विश्वविद्यालय की राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई द्वारा पदयात्रा, विशेष व्याख्यान कार्यक्रम एवं वृक्षारोपण कार्यक्रम का आयोजन किया गया। विश्वविद्यालय के कुलसचिव, श्री अमित कुमार सिंह ने बताया कि विशेष व्याख्यान कार्यक्रम उ0प्र0 शासन के दिशा-निर्देश के तहत ‘‘आजादी का अमृत महोत्सव-इण्डिया /75’’ पर आयोजित किया गया। विशेष व्याख्यान कार्यक्रम में राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई के स्वयंसेवकों को स्वतंत्रता सेनानियों के आदर्शों, मूल्यों, त्याग, बलिदान एवं कर्तव्यों के प्रति प्रेरित किया गया।

उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी की पुण्यतिथि पर किया उन्हे नमन

उ0प्र0 के उपमुख्यमंत्री श्री केशव प्रसाद मौर्य ने आज पूर्व प्रधानमंत्री भारतरत्न श्रद्धेय अटल बिहारी वाजपेयी की तृतीय पुण्यतिथि पर अपने सरकारी आवास-7 कालिदास मार्ग पर उनके चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित कर उन्हे नमन किया तथा भावपूर्ण व आत्मिक श्रद्धांजलि अर्पित की। मौर्य ने अटल जी के जीवन दर्शन और उनके द्वारा की गयी समाज सेवा तथा उनके जीवन की विभिन्न सकारात्मक पड़ावों के बारे में विस्तार से प्रकाश डाला। उन्होने कहा कि वह महान विचारक, कवि व जनप्रिय नेता थे। उनके विचार हम सबको आज भी प्रेरित करते हैं। श्री मौर्य ने कहा कि अटल बिहारी वाजपेयी सकारात्मक सोच वाले व्यक्ति थे। महान जनसेवक व राष्ट्रभक्त थे। वह कहते थे ‘‘देश एक मन्दिर है, हम पुजारी हैं। राष्ट्रदेव की पूजा में हमें खुद को समर्पित कर देना चाहिये’’।

समाज कल्याण मंत्री रमापति शास्त्री ने भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी की पुण्यतिथि पर किया उन्हे नमन

उत्तर प्रदेश के समाज कल्याण मंत्री श्री रमापति शास्त्री ने आज पूर्व प्रधानमंत्री भारतरत्न श्रद्धेय अटल बिहारी वाजपेयी की तृतीय पुण्यतिथि पर अपने सरकारी आवास पर उनके चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित कर उन्हे नमन किया तथा भावपूर्ण व आत्मिक श्रद्धांजलि अर्पित की। शास्त्री ने अटल जी के जीवन दर्शन और उनके द्वारा की गयी समाज सेवा तथा उनके जीवन की विभिन्न सकारात्मक पड़ावों के बारे में विस्तार से प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि वह महान विचारक, कवि व जनप्रिय नेता थे।

75वें स्वतंत्रता दिवस के उपलक्ष्य में 02 माह के डिजाइन डेवलपमेंट ट्रेनिंग कार्यक्रम का शुभारम्भ

75वें स्वतंत्रता दिवस के उपलक्ष्य में ’’सम्मान-कौशल से भविष्य निर्माण’’ के मूल मंत्र के साथ उत्तर प्रदेश डिजाइन एवं शोध संस्थान तथा महिला एवं बाल विकास विभाग के संयुक्त तत्वाधान में 2 माह के डिजाइन डेवलपमेंट ट्रेनिंग कार्यक्रम का शुभारम्भ लखनऊ जनपद के राजकीय महिला शरणालय परिसर में किया गया। इस दौरान बास्केट वीविंग क्राफ्ट, राजकीय बालगृह (बालिका) में हैण्ड इम्ब्राइडरी-मेडप क्राफ्ट एवं राजकीय बालगृह (बालक) में वुडेन ट्वाइज क्राफ्ट का प्रदर्शन किया गया। इस कार्यक्रम के माध्यम से निराश्रित बालक एवं बालिकाओं को कौशल एवं तकनीकी रूप से दक्ष बनाकर समाज की मुख्य धारा से जोड़ने का प्रयास किया जा रहा है। अध्यक्षा, उत्तर प्रदेश डिजाइन एवं शोध संस्थान श्रीमती क्षिप्रा शुक्ला, एवं प्रमुख सचिव, महिला एवं बाल विकास श्रीमती वी0 हेकाली झिमोमी, द्वारा सभी बाल गृहों में जाकर क्राफ्ट प्रशिक्षण कार्यक्रमों का शुभारम्भ किया गया, जिसमें निराश्रित बालक एवं बालिकाओं द्वारा भी उत्साहपूर्वक सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। क्षिप्रा शुक्ला ने निराश्रित बालक एवं बालिकाओं को सम्बोधित करते हुए कहा कि इन बच्चों के समक्ष सबसे बडी चुनौती है कि 18वर्ष की उम्र के पश्चात् ये इन गृहों से निकलकर जब समाज की मुख्य धारा से जुडेंगे तो वे किस तरह जीविकोपार्जन करेंगे। इस समस्या के समाधान हेतु ’’सम्मान-कौशल से भविष्य निर्माण’’ का अनूठा सपना लिए यू0पी0आई0डी0आर0, लखनऊ इन बालक/बालिकाओं को व्यावसायिक प्रशिक्षण प्रदान कर नयी तकनीकी से जोड़ेगा, साथ ही बाजार की मांग के अनुरूप उत्पाद बनवाकर मार्केट लिंकेज प्रदान कर बालक एवं बालिकाओं को समाज की मुख्यधारा से जोडने का प्रयास करेगा। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी के ’’आत्मनिर्भर भारत’’ एवं ’’वोकल फॉर लोकल’’ कार्यक्रमों के मूल मंत्र को आगे बढ़ाते हुए यू0पी0आई0डी0आर0 द्वारा निराश्रित गृहों में चलाए जा रहा डिजाइन वर्कशाप कार्यक्रम समाज को एक नई मंजिल की ओर ले जायेगा। हेकाली द्वारा कार्यक्रम में सम्मिलित बच्चों से ट्रेनिंग कार्यक्रम में समग्र रूप से भाग लेकर हुनरमंद बनने के लिए प्रोत्साहित किया तथा यह भी बताया कि बच्चांे द्वारा ट्रेनिंग के उपरान्त बनाए गए उत्पादों को यू0पी0आई0डी0आर0 ऑनलाइन प्रदर्शनी के माध्यम से सीधे बाजार से जोड़ने का भी प्रयास करेगा। यू0पी0आई0डी0आर0 का यह सराहनीय प्रयास बच्चों के भविष्य की मजबूत नींव रखने के क्रम मेें एक मील का पत्थर साबित होगा। कार्यक्रम में श्रीमती आरती व्यवस्थापिका राजकीय महिला शरणालय, श्री मिथलेश पाण्डेय अध्यक्ष राजकीय बालगृह (बालक), श्री जयपाल वर्मा अध्यक्ष राजकीय बालगृह (बालिका),     श्री सुधांशू प्रशानिक अधिकारी यू0पी0आईडी0आर0, श्री रामजी पाण्डेय, श्री विभोर कटियार,   श्री प्रतीक अग्रवाल, श्री दीपांकर सिंह, सुश्री दीपिका तिवारी आदि द्वारा कार्यक्रम में प्रतिभाग किया गया।

होमगाडर््स स्वयंसेवकों एवं अवैतनिक अधिकारियों की सेवावधि में मृत्यु की दशा में आर्थिक सहायता दिये जाने की नई व्यवस्था की गयी लागू

सीनियर स्टाफ ऑफिसर होमगाडर््स सुनील कुमार ने जानकारी देते हुए बताया कि सामाजिक सुरक्षा बीमा योजना एवं होमगाडर््स कल्याण कोष नियमावली के अन्तर्गत दिवंगत होमगाडर््स को आर्थिक सहायता दिये जाने में आ रही कठिनाइयों के दृष्टिगत पूर्व की व्यवस्था के स्थान पर शासन द्वारा 13 अगस्त, 2021 को जारी शासनादेश द्वारा होमगाडर््स स्वयंसेवकों एवं अवैतनिक अधिकारियों की सेवावधि में मृत्यु की दशा में उनके नामिनी/उत्तराधिकारियों को एवं अपंगता की दशा में उनको अनुग्रह राशि दिये जाने की नवीन व्यवस्था 06 अगस्त, 2020 से लागू की गई है। नवीन व्यवस्था के अनुसार सेवावधि में मृत्यु होने तथा स्थायी अपंगता की दशा में रूपये 05 लाख (रूपये पांच लाख) एवं एक अंग अथवा एक आंख की पूर्णरूप से हानि होने की दशा में रूपये 2.50 लाख (रूपये दो लाख पचास हजार) की आर्थिक सहायता प्रदान की जायेगी।

 उ0प्र0 गोसेवा आयोग द्वारा प्रदेशव्यापी गोशालाओं का निरीक्षण अभियान को गति प्रदान करते हुये 16 अगस्त. 2021 को उ0प्र0 गोसेवा आयोग के उपाध्यक्ष, श्री अतुल सिंह द्वारा जनपद बाराबंकी स्थित वृहद गो संरक्षण केन्द्र, निबलेट बाराबंकी, राजकीय पशुधन प्रक्षेत्र, चकगंजरिया तथा अस्थायी गोवंश आश्रय स्थल, खजूर गांव का निरीक्षण किया गया। निबलेट कृषि फार्म बाराबंकी में सरकार के द्वारा चार है0 जमीन वृहद गो संरक्षण केन्द्र के लिये दी गयी। एक करोड़ बीस लाख के प्रोजेक्ट में चार शेड, दो भूसा गोदाम, एक कार्यालय बनाया गया, जिसमें लगभग 340 गोवंश संरक्षित हैं। सभी गोवंशों की टैगिंग तथा बैक्सीनेशन का कार्य पूर्ण हो चुका है। आश्रय स्थल के संचालक ने बताया कि गो आश्रय स्थल की ऊसर भूमि को चारागाह बनाने का प्रयास हो रहा है तथा भविष्य में चारागाह बनाकर स्वयं अपने संसाधनों से आश्रय स्थल को स्वावलम्बी बनाया जायेगा।

इसे भी पढ़ें: सपा सांसद के बिगड़े बोल, कहा- कॉमन सिविल कोड अगर आ गया तो मुसलमान दूसरी शादी नहीं कर पाएगा

राजकीय पशुधन प्रक्षेत्र, चकगंजरिया में लगभग 975 गोवंश संरक्षित हैं। भारत की पांच लैब में से एक लैब यहां पर है, जिसमें आई0बी0एफ0 प्रणाली से भ्रूण प्रत्यारोपित किया जाता है। यह बिलुप्त हो रही प्रजाति साहीवाल के संरक्षण एवं संवर्धन के लिये विशेषकर कार्यरत है। उपाध्यक्ष द्वारा साहीवाल नस्ल की गायों के संरक्षण एवं संवर्धन तथा इस नस्ल पर किये जा रहे शोध कार्य की सराहना की गयी। अस्थायी आश्रय स्थल खजूर गांव में वर्षा ऋतु में होने वाली कठिनाइयों से गोवंश को बचाने हेतु प्रबंध करने के निर्देश दिये और दिख रहे दलदल पर रबिस डाले जाने हेतु निर्देशित किया गया। गोवंश आश्रय स्थल में संरक्षित गोवंश के संरक्षण एवं संवर्धन में आ रही कठिनइयों से अवगत होने के पश्चात गो संरक्षण समिति की बैठक कलेक्ट्रेट, बाराबंकी में आहूत की गयी। बैठक में उपाध्यक्ष, उ0प्र0 गोसेवा आयोग द्वारा जिलाधिकारी, मुख्य पशुचिकित्सा अधिकारी, ग्राम पंचायत अधिकारी तथा गोशालाओं के सक्षम अधिकारियों को निर्देशित किया कि आ रही समस्याओं को जिला स्तरीय समिति की बैठक में प्रस्तुत किया जाये, जिसको जिलाधिकारी महोदय द्वारा निराकरण किया जा सके। उपाध्यक्ष उ0प्र0 गोसेवा आयोग ने यह भी कहा कि हिन्दु युवा वाहिनी/विश्व हिन्दु महासंघ के अधिकारियों/पदाधिकारियों/भाजपा कार्यकर्ताओं की 11 सदस्ययी टीम बनायी जाये जिसे गो संरक्षण समिति की बैठकों में विशेष रूप से आमंत्रित किया जाये ताकि क्षेत्र की मूलभूत समस्याओं से अवगत हुआ जा सके। यह भी निदेर्शित किया कि गो संरक्षण संबर्धन क्षेत्र में आ रही समस्याओं को आयोग के संज्ञान में लाकर शीघ्र उनका निराकरण करायें। उक्त निरक्षण/बैठक में जिलाधिकारी, पुलिस अधीक्षक, मुख्य विकास अधिकारी, बाराबंकी, मुख्य पशुचिकित्सा अधिकारी, ग्राम पंचायत अधिकारी, बाराबंकी, ग्राम प्रधान, सचिव, उ0प्र0 गोसेवा आयोग, लखनऊ एवं भाजपा कार्यकर्ता, विश्व हिन्दू महासंघ तथा हिन्दू युवा वाहिनी के पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

दुग्ध संघों के सुदृढ़ीकरण के लिए 833.162 लाख रूपये की धनराशि स्वीकृत

उत्तर प्रदेश सरकार ने प्रदेश में डेयरी विकास के लिए वर्तमान दुग्ध संघों के सुदृढ़ीकरण एवं पुनर्जीवित करने की योजना के तहत वर्तमान वित्तीय वर्ष में  द्वितीय किश्त के रूप में 833.162 लाख रूपये की धनराशि स्वीकृत की है। यह धनराशि आगरा, मैनपुरी, मेरठ, झांसी, जालौन(उरई), हमीरपुर, महोबा, बांदा, लखनऊ, लखीमपुर खीरी, बरेली, पीलीभीत, शाहजहांपुर, रामपुर, वाराणसी, मिर्जापुर, सोनभद्र, गोरखपुर, महाराजगंज, देवरिया, बस्ती, सिद्धार्थनगर, आजमगढ़, मऊ, प्रयागराज, प्रतापगढ,़ कानपुर, अयोध्या, अंबेडकरनगर, बहराइच, तथा गोंडा जनपदों के लिए स्वीकृत की गई है। इस संबंध में दुग्ध विकास विभाग द्वारा शासनादेश जारी करते हुए योजना के क्रियान्वयन के सम्बन्ध में सम्बन्धित जनपद के दुग्धशाला विकास अधिकारी/उप दुग्धशाला विकास अधिकारी तथा आहरण वितरण अधिकारी को आवश्यक दिशा-निर्देश दिये हैं। शासनादेश में कहा गया है कि स्वीकृत धनराशि के उपयोग में राज्य सरकार द्वारा निर्धारित मानकों एवं दिशा-निर्देशों का अनुपालन सुनिश्चित किया जाये। स्वीकृत धनराशि का आहरण व व्यय योजना के समय-समय पर निर्गत दिशा-निर्देशों तथा शासनादेश में निहित व्यवस्था के अनुसार किया जाएगा।

स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर अपर मुख्य सचिव द्वारा 40 माटीकला कारीगरों को विद्युत चालित चाक एवं 14 लोगों को दी गईं पापकार्न मशीनें

अपर मुख्य सचिव, खादी एवं ग्रामोद्योग डा0 नवनीत सहगल ने स्वतंत्रता दिवस ‘आजादी का अमृत महोत्सव’ के अवसर पर खादी भवन में अयोजित समारोह में महात्मा गांधी जी की प्रतिमा पर पुष्प अर्पित कर उन्हें नमन किया। उन्होंने झण्डारोहण के पश्चात 40 माटीकला कारीगरों को विद्युत चालित चाक एवं 14 लोगों को पापकार्न मशीनें भी वितरित की। इस अवसर पर डा0 सहगल ने देश की आजादी के लिए शहीद होने वाले ज्ञात व अज्ञात स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों को स्मरण किया। विभाग के अधिकारियों एवं कर्मचारियों को सम्बोधित करते हुए उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री जी के विजन सबका साथ-सबका विश्वास के उद्देश्य पर राज्य सरकार तेजी से अग्रसर है। खादी एवं ग्रामोद्योग बोर्ड भी इस व्यवस्था का अहम हिस्सा है। सरकार की नीतियों एवं योजनाएं आम आदमी तक पहुंचाने के लिए हम सभी को मिलकर प्रयास करने होंगे। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने विकास की जो छवि बनाई है, उसे जमीन तक पहुंचाने में खादी एवं ग्रामोद्योग विभाग की महत्वपूर्ण भूमिका होगी। डा0 सहगल ने उ.प्र. माटीकला बोर्ड के समन्वित विकास कार्यक्रम के अन्तर्गत संचालित ‘माटीकला टूल-किट्स वितरण योजना’ विद्युत चालित चाक एवं पापकार्न मशीन का वितरण करते हुए कहा विद्युत चाक के लिए चयनित सभी लाभार्थी माटीकला के परम्परागत कारीगर हैं, जो अब तक डन्डे से चलने वाले परम्परागत कुम्हारी चाक पर कार्य करते थे। विद्युत चालित चाक उपलब्ध होने के उपरान्त ये अपनी उत्पदान क्षमता में तीन गुना बृद्धि कर सकेगंे और उनके शारीरिक श्रम की भी बचत होगी। विद्युत चालित चाक की गति चाक में लगे रेग्यूलेटर के माध्यम से आवश्यकतानुसार कम ज्यादा की जा सकती है। यह चाक बाक्स-नुमा होने के कारण पूर्णतः सुरक्षित है, जिससे इसे वृद्ध एवं महिलाएं भी संचालित कर सकती हैं। उन्होंने कहा कि इस वर्ष प्रदेशभर में 2900 विद्युत चालित चाक वितरण किये जाने का लक्ष्य है।

डा0 नीलकण्ठ तिवारी ने पंडित दीनदयाल उपाध्याय के जीवन परिचय पर आधारित वर्चुअल रियलिटी एक्सपीरियन्स ‘‘एक परिचय‘‘ का किया शुभारम्भ

जनपद वाराणसी के पड़ाव चौराहे समीप स्थित वाराणसी विकास प्राधिकरण द्वारा विकसित पंडित दीनदयाल उपाध्याय स्मृति स्थल का लोकार्पण माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी द्वारा 16 फरवरी 2020 को किया जा चुका है। कुल उपलब्ध 3.674 हेक्टेयर भूमि पर विकसित परियोजना में पंडित दीनदयाल उपाध्याय जी की काँस्य प्रतिमा, इण्टरप्रिटेशन वाल, ओपन एयर थिएटर, वाटर चैनल, टॉयलेट ब्लाक, फिल्टरेशन प्लान्ट, कुण्ड एंव लैण्ड   स्केपिंग आदि के कार्य में कुल लगभग 42.02 करोड़ का व्यय हुआ। प्रदेश के पर्यटन, संस्कृति एंव धमार्थ कार्य विभाग मंत्री डा0 नीलकण्ठ तिवारी द्वारा 14 अगस्त 2016 को पंडित दीनदयाल उपाध्याय जी के जीवन परिचय पर आधारित वर्चुअल रियलिटी एक्सपीरियन्स ‘‘एक परिचय‘‘ का शुभारम्भ किया गया। इस वर्चुअल रियलिटी एक्सपीरियन्स को आई0 आई0 टी0 बी0 एच0 यू0 से इनक्युबेट कम्पनी एक्सपीरियंस जोन द्वारा विकसित किया गया है, जिसमें पंडित दीनदयाल उपाध्याय जी के जीवन यात्रा एंव उनके द्वारा किये गए कार्याे को वर्चुअल रियलिटी के माध्यम से पर्यटको को दिखाया जायेगा। इस अवसर पर मण्डलायुक्त वाराणसी श्री दीपक अग्रवाल, उपाध्यक्ष वाराणसी विकास प्राधिकरण सुश्री ईशा दुहन, सचिव वाराणसी विकास प्राधिकरण, नगर नियोजक, प्रभारी निर्माण के साथ-साथ एक्सपीरियंस जोन के संस्थापक श्री अखौरी आनन्द कुमार, श्री अवध बिहारी, श्री विशाल श्रीवास्तव व अन्य उपस्थित रहे।

इसे भी पढ़ें: मेरठ: दो मासूम बेटियों की हत्या करने वाले आरोपी पिता को पुलिस ने किया गिरफ्तार

आयोग के आदेश को न मानने वाले अधिकारियों के खिलाफ होगी कार्यवाही

उ0प्र0 राज्य पिछड़ा वर्ग आयोग ने प्रदेश के पिछड़ा वर्ग के दबे-कुचले एवं पीड़ित समुदाय को न्याय प्रदान करने के लिए आयोग में सुनवाई प्रारम्भ कर दिया है। इस क्रम में आज राज्य पिछड़ा वर्ग आयोग के अध्यक्ष, श्री जसवन्त सैनी द्वारा पिछड़े वर्गों के लोगों की विभिन्न प्रकार की समस्याओं के कुल 19 शिकायती वादों की सुनवाई की गयी। आयोग में श्री शिवबीर सिंह यादव बनाम निदेशक, बेसिक शिक्षा उ0प्र0 का प्रकरण सुना गया। इस वाद में 68500 सहायक अध्यापक भर्ती परीक्षा में आरक्षित पिछड़ी जाति के अभ्यार्थियों को 5 प्रतिशत छूट न दिये जाने के सम्बन्ध में था, सुनवाई की गयी। सुनवाई के उपरान्त अगली सुनवाई की तिथि पर सचिव, बेसिक शिक्षा उ0प्र0 शासन व सचिव परीक्षा नियामक, उ0प्र0 प्रयागराज को व्यक्तिगत रूप से उपस्थित होने के निर्देश दिये गये। इसी प्रकार श्री अतुल कुुमार प्रजापति बनाम प्रबन्ध निदेशक उ0प्र0 पावर कार्पोरेशन लि0 की सुनवाई की गयी, जिसमें उ0प्र0 पावर कारपोरेशन लि0 प्रबन्धन द्वारा पिछड़ी जाति के टी0जी0-2 कार्मिंकों का अवर अभियन्ता के पद पर प्रमोशन कारपोरेशन की बी0डी0ओ0 के पास वर्तमान लागू आदेश (वरिष्ठता तथा चयन) के आधार पर प्रमोशन न करके पूरे प्रदेश के पिछड़ी जाति के कार्मिकों का शोषण किये जाने के सम्बन्ध में था, सुनवाई की गयी। सुनवाई में प्रबन्ध निदेशक के उपस्थित न होने पर नाराजगी व्यक्त की गयी। आयोग द्वारा डा0 पारूल सिंह बनाम अपर मुख्य सचिव चिकित्सा शिक्षा उ0प्र0 शासन व महानिदेशक, चिकित्सा शिक्षा उ0प्र0 की सुनवाई की गई, जिसमें विभागाध्यक्ष डा0 डी0सी0 श्रीवास्तव द्वारा जातिगत भेदभाव एवं उत्पीड़न किये जाने के सम्बन्ध में था, सुनवाई की गयी। सुनवाई में अवगत कराया गया कि डा0 आनन्द कुमार, आर्थोंपैडिक्स को कार्यभार ग्रहण करा दिया जायेगा। आयोग के आदेश को न मानने वाले तथा विलम्ब करने वाले अधिकारी के विरूद्ध कार्यवाही की जायेगी।

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत 7.04 लाख मीट्रिक टन से अधिक खाद्यान्न का वितरण

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत अब तक लगभग 7.04 लाख मीट्रिक टन से अधिक खाद्यान्न का वितरण किया गया है। अगस्त माह में 05 अगस्त, 2021 से उचित दर दुकानों पर उत्सव के माहौल में वितरण प्रारम्भ कराया गया। इस योजना के तहत अन्त्योदय तथा पात्र गृहस्थी से सम्बद्ध कार्डधारको को प्रति लाभार्थी 05 किग्रा0 खाद्यान्न, प्रति माह निःशुल्क वितरित कराया जा रहा है। वितरण की अद्यतन जानकारी ीजजचेरूबिेण्नचण्हवनण्पदध्चउहांलण्ीजउस लिंक से प्राप्त की जा सकती है। खाद्य एवं रसद विभाग द्वारा उपलब्ध कराई गयी जानकारी के अनुसार वर्तमान वितरण चक्र में सम्पन्न हो रहे वितरण के दृष्टिगत खाद्य विभाग द्वारा एन0आई0सी0 के माध्यम से विकसित लिंक क्ंेीइवंतकण्ंेचग पर रियल टाईम ट्रॉजेक्शन के अवलोकन की सुविधा जनसाधारण के लिए उपलब्ध करायी गई है, जिसे कोई भी व्यक्ति देख सकता है। अब तक 3.33 करोड़ से अधिक राशन कार्डधारकों को राशन का वितरण किया जा चुका है। इस योजना से अब तक 14.08 करोड़ से अधिक लोग लाभान्वित हुए हैं।

यूपीनेडा द्वारा उत्तर प्रदेश राज्य ऊर्जा संरक्षण पुरस्कार-2021 की घोषणा की गयी

स्वतंत्रता दिवस की 75वीं वर्षगांठ के शुभ अवसर पर जो ‘‘अमृत महोत्सव’’ के रूप में मनाया जा रहा है, यूपीनेडा द्वारा एक संस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन देवा रोड, चिनहट में स्थित यूपीनेडा के प्रशिक्षण केन्द्र पर किया गया। इस अवसर पर यूपीनेडा द्वारा उत्तर प्रदेश राज्य ऊर्जा संरक्षण पुरस्कार-2021 की घोषणा की गयी। यह पुरस्कार कार्यक्रम इस वर्ष 02 प्रारूपों में आयोजित की जाएगी। यूपीनेडा के वरिष्ठ परियोजना अधिकारी श्री अशोक कुमार श्रीवास्तव ने यह जानकारी देते हुए बताया कि प्रथम प्रारूप में ऊर्जा संरक्षण अभियान/एनर्जी सेविंग कैम्पेन अन्तर्गत 10 वर्गों में स्कूलों (12वीं कक्षा तक), उद्योगों, भवनों के साथ-साथ वाणिज्यिक भवनों द्वारा प्रतिभाग किया जा सकेगा। द्वितीय प्रारूप में विभिन्न प्रतियोगिताएं यथा पेटिंग प्रतियोगिता, क्विज़ प्रतियोगिता व मोबाइल एप शेयरिंग एण्ड डाउनलोडिंग में प्रदेश मेे नागरिक व स्कूलों द्वारा प्रतिभाग किया जा सकेगा। पेंटिंग प्रतियोगिता में स्कूलों के माध्यम से निम्न 03 ग्रुपों में विद्यार्थियों द्वारा प्रतिभाग किया जा सकेगा। कक्षा-3 से कक्षा-5 तक, कक्षा-6 से कक्षा-8 तक एवं कक्षा-9 से कक्षा-11 तक प्रतिभागी स्कूल द्वारा प्रत्येक ग्रुप से सर्वश्रेष्ठ एक-एक पेंटिंग यूपीएसडीए को ऑनलाइन उपलब्ध कराया जाना होगा। उन्होंने बताया कि यह पुरस्कार कार्यक्रम यूपीएसडीए की वेबसाईट के माध्यम से ऑनलाईन आयोजित की जाएगी। पुरस्कार कार्यक्रम में प्रतिभाग करने हेतु पंजीकरण प्रक्रिया दिनांक 15 अगस्त 2021 से प्रारम्भ हो गयी है, जिसकी विस्तारपूर्वक जानकारी यूपीएसडीए की वेबसाईट अथवा मोबाइल ऐप से प्राप्त की जा सकती है। उपरोक्त शुभ अवसर पर यूनीनेडा के निदेशक, श्री भवानी सिंह खंगारौत, सचिव श्री अनिल कुमार तथा यूपीनेडा के समस्त अधिकारी/कर्मचारी सहित उपस्थित थे।