बासी फूल और शॉल से परेशान हुए खादिम, हाजी अली दरगाह पर श्रद्धालुओं से नकद दान देने की अपील की

Khadim
Creative Common
अभिनय आकाश । Sep 20, 2022 1:23PM
दरगाह के प्रवक्ता सोहेल खंडवानी ने बताया कि कई दिनों से देखा जा रहा है कि बड़ी संख्या में श्रद्धालु बासी फूल लेकर आ रहे हैं। लेकिन इसमें भक्तों का 'गलती' नहीं है।

फूल और शॉल लेकर मस्जिद में न आएं। मुंबई में हाजी अली दरगा के अधिकारियों ने श्रद्धालुओं से पैसे दान करने की अपील की। लोगों से ऐसी अपील क्यों? दरगाह के प्रवक्ता सोहेल खंडवानी ने बताया कि कई दिनों से देखा जा रहा है कि बड़ी संख्या में श्रद्धालु बासी फूल लेकर आ रहे हैं। लेकिन इसमें भक्तों का 'गलती' नहीं है। इसमें बेईमान कारोबारियों का एक वर्ग शामिल है। वे बासी फूल और सस्ते शॉल महंगे दामों पर बेचते हैं। इसे समझे बिना भक्त इन सबके साथ दरगाह में आते हैं। उन्होंने कहा कि वे इन बेईमान व्यापारियों का कारोबार खत्म करना चाहते हैं। इसलिए अनुरोध है कि फूल, शॉल के बदले नकद दान करें।

इसे भी पढ़ें: देश के आईआईटी, छात्रों में वैज्ञानिक सोच विकसित करने वाले मंदिरों के समान: धर्मेन्द्र प्रधान

दरगाह के प्रवक्ता के शब्दों में कहे तो हम नहीं चाहते कि लोगों का पैसा बर्बाद हो।  इसलिए सभी नकद दान करें। वह पैसा बाजार के विकास के लिए खर्च किया जा सकता है। एक श्रद्धालु के पास से बासी फूल व शॉल बेचने की शिकायत आई। उसने अधिकारियों से शिकायत की कि दरगाह के सामने एक दुकानदार ने उसे फूल और शॉल बेचकर 4,000 रुपये ले लिए। लेकिन फूल बासी हैं और शॉल सस्ते हैं। अधिकारी शिकायत की जांच कर रहे हैं। उसके बाद उन्होंने सभी भक्तों से नकद दान करने को कहा।

इसे भी पढ़ें: अयोध्‍या में एक भक्‍त ने बनवाया योगी आदित्‍यनाथ का मंदिर, सुबह-शाम होती है पूजा

संयोग से हाजी अली दरगाह के जीर्णोद्धार का काम चल रहा है। दरगाह के प्रशासक मोहम्मद अहमद ने कहा कई बार बासी फूल चढ़ाए जा रहे थे और इसलिए उन्होंने वह अपील की। 

अन्य न्यूज़