भारत में कोविड-19 के कारण जान गंवाने वालों का आंकड़ा सबसे कम : सरकार

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मार्च 29, 2022   18:04
भारत में कोविड-19 के कारण जान गंवाने वालों का आंकड़ा सबसे कम : सरकार
प्रतिरूप फोटो

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्य मंत्री भारती प्रवीण पवार ने राज्यसभा को एक प्रश्न के लिखित जवाब में यह जानकारी देते हुए बताया कि डब्ल्यूएचओ के आंकड़ों के अनुसार, भारत में प्रति दस लाख की आबादी में कोविड महामारी से जान गंवाने वालों की संख्या 374 है।

नयी दिल्ली|  सरकार ने मंगलवार को कहा कि विश्व स्वास्थ्य संगठन के आंकड़ों के अनुसार, भारत में कोविड-19 से जान गंवाने वालों की संख्या, इस महामारी से इसी तरह प्रभावित अमेरिका, ब्राजील, रूस और मैक्सिको जैसे देशों की तुलना में ‘‘सबसे कम’’ है।

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्य मंत्री भारती प्रवीण पवार ने राज्यसभा को एक प्रश्न के लिखित जवाब में यह जानकारी देते हुए बताया कि डब्ल्यूएचओ के आंकड़ों के अनुसार, भारत में प्रति दस लाख की आबादी में कोविड महामारी से जान गंवाने वालों की संख्या 374 है।

उन्होंने बताया कि कुछ खबरों में मृतकों की संख्या अधिक होने का आकलन किया गया है जो भारत के आधिकारिक आंकड़ों की तुलना में ज्यादा है। उन्होंने बताया ‘‘ऐसी खबरें या तो अपुष्ट आंकड़ों पर आधारित हैं या अनुमानित आंकड़ों पर, जो विश्वसनीय नहीं हैं।

ऐसे ज्यादातर अध्ययनों में परिणाम छोटी आबादी वाले उपसमूहों के सीमित नमूनों से गणितीय मॉडल तकनीक के जरिये लिए गए हैं।’’ पवार ने बताया ‘‘विश्व स्वास्थ्य संगठन के उपलब्ध आंकड़ों के अनुसार, भारत में कोविड-19 से जान गंवाने वालों की संख्या, इस महामारी से इसी तरह प्रभावित अमेरिका, ब्राजील, रूस और मैक्सिको जैसे देशों की तुलना में ‘‘सबसे कम’’ है।

आंकड़ों के अनुसार, भारत में कोविड महामारी से प्रति दस लाख की आबादी में 374 लोगों की जान गई जबकि अमेरिका में इस महामारी से प्रति दस लाख की आबादी में जान गंवाने वालों की संख्या 2,920, ब्राजील में 3,092, रूस में 2,506 और मैक्सिको में 2,498 है।’’

उन्होंने बताया कि भारत में कोविड-19 से जान गंवाने वालों की सूचना देने के लिए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को विस्तृत दिशा-निर्देश जारी किए हैं। भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) ने भारत में कोविड-19 संबंधी मौत के मामले समुचित तरीके से दर्ज करने के लिए 10 मई 2020 को दिशानिर्देश जारी किए थे।

पवार ने बताया कि राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों से कोविड-19 के मामलों और इससे जान गंवाने वालों के बारे में स्वास्थ्य मंत्रालय को सूचना दी जाती है और नियमित आधार पर आंकड़े ‘‘पब्लिक डोमेन’ पर डाले जाते हैं।

उन्होंने बताया कि राज्य मृतकों की संख्या का आकलन और समीक्षा करते हैं और पारदर्शी तरीके से आंकड़ों का समायोजन किया जाता है।

उन्होंने बताया कि देश में कोविड-19 से मौत होने पर कुछ स्थितियों में अनुग्रह राशि देने का भी प्रावधान है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...