3 साल बाद हो रही है मध्यप्रदेश बीजेपी की कार्यसमिति की बैठक, यह रहेंगें मुद्दे

3 साल बाद हो रही है मध्यप्रदेश बीजेपी की कार्यसमिति की बैठक, यह रहेंगें मुद्दे
प्रतिरूप फोटो

मध्यप्रदेश बीजेपी की प्रदेश कार्यसमिति की बैठक तीन साल बाद गुरुवार (24 जून) को आयोजित हो रही है। बैठक के पहले सत्र में राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्‌डा संबोधित करेंगे। और दूसरे सत्र में राजनीतिक प्रस्ताव और कोरोना की स्थिति पर चर्चा होगी।

भोपाल। मध्यप्रदेश बीजेपी की प्रदेश कार्यसमिति की बैठक तीन साल बाद गुरुवार (24 जून) को आयोजित हो रही है। बीजेपी प्रदेश कार्यालय में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा, प्रदेश प्रभारी पी मुरलीधर राव सहित 20 पदाधिकारी मौजूद रहेंगे। वहीं अन्य पदाधिकारी बैठक में वर्चुअली शामिल होंगे। बैठक के पहले सत्र में राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्‌डा संबोधित करेंगे। और दूसरे सत्र में राजनीतिक प्रस्ताव और कोरोना की स्थिति पर चर्चा होगी।

बता दें कि प्रदेश अध्यक्ष के रूप में विष्णु दत्त शर्मा की नियुक्ति के बाद प्रदेश कार्यसमिति की पहली बैठक हो रही है। जिसमें कोरोना काल में दिवंगत नेताओं और जनता को श्रद्धांजलि देने के लिए शोक प्रस्ताव लाया जा रहा है। पहले सत्र में शर्मा का संबोधन होगा। फिर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष का संबोधन होगा।

इसे भी पढ़ें:कांग्रेस के नेता ट्वीट कर जनता को कर रहे है गुमराह: विश्वास सारंग 

वहीं अगले सत्रों में कोरोना काल में केंद्र और राज्य सरकार और संगठन ने क्या किया, उस पर बात होगी। जानकारी के अनुसार 1 से 15 जुलाई के बीच जिलों में जिला कार्यसमिति और प्रदेश में स्थित 1070 मंडलों में कार्यसमिति की बैठकें 31 जुलाई तक कराई जाएंगी।

प्रदेश से चुने गए केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, थावरचंद गेहलोत, प्रहलाद पटेल, धर्मेन्द्र प्रधान, फग्गन सिंह कुलस्ते, राज्यसभा सदस्य ज्योतिरादित्य सिंधिया और राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय पार्टी के राष्ट्रीय कार्यालय में राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के साथ रहेंगे।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।