मध्य प्रदेश: संक्रमण से परिवार में हुई मौत के गम में दो महिलाओं ने की आत्महत्या

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 23, 2021   09:19
मध्य प्रदेश: संक्रमण से परिवार में हुई मौत के गम में दो महिलाओं ने की आत्महत्या

पहली घटना में प्रदेश के रायसेन जिले में एक महिला ने कोरोना वायरस संक्रमण के कारण अपनी मां की मौत से दुखी होकर कथित रूप से चौथी मंजिल से कूदकर आत्महत्या कर ली।

रायसेन/ देवास (मप्र)। मध्य प्रदेश में कोरोना वायरस संक्रमण के कारण परिवार में हुई मौत के गम में रायसेन एवं देवास जिलों में दो महिलाओं ने कथित रूप से आत्महत्या कर दी। पहली घटना में प्रदेश के रायसेन जिले में एक महिला ने कोरोना वायरस संक्रमण के कारण अपनी मां की मौत से दुखी होकर कथित रूप से चौथी मंजिल से कूदकर आत्महत्या कर ली। यह घटना रायसेन जिला मुख्यालय से करीब 60 किलोमीटर दूर औद्योगिक नगर मंडीदीप में बुधवार रात करीब आठ बजे के आसपास हुई।

इसे भी पढ़ें: केरल में संक्रमण के एक दिन में 27,000 के करीब नए मामले, हरियाणा में 55 लोगों की मौत

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अमृत मीणा ने बताया कि मंडीदीप के हिमांशु विंग्स बिल्डिंग की चौथी मंजिल में रहने वाले रंजीत राय की पत्नी का कोरोना वायरस संक्रमण के कारण दो दिन पहले निधन हो गया था, जिससे उनकी 32 वर्षीय पुत्री रितिका राय सदमे में थी। उन्होंने कहा, ‘‘बुधवार की रात करीब 8 बजे वह अचानक मां के पास जाने का कहते हुए अपने अपार्टमेंट की चौथी मंजिल से कूदने के लिए लटक गई, उसके पिता रंजीत राय सहित आसपास के रहवासियों ने बचाने के लिए उसका हाथ पकड़कर ऊपर खींचने के प्रयास किए लेकिन वे सफल नहीं हो सके। इसी जद्दोजहद में रितिका ने उन्हें जोर का झटका देकर अपना हाथ छुड़ा लिया, जिसके कारण वह 50 फुट नीचे आकर गिरी।’’ मीणा ने बताया कि उसको गंभीर अवस्था में तत्काल शासकीय चिकित्सालय ले जाया गया, जहां गंभीर चोट आने के कारण इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई।

इसे भी पढ़ें: ऑक्सीजन की कमी के कारण दिल्ली के सर गंगाराम अस्पताल 24 घंटे में 25 मरीजों की मौत

मंडीदीप पुलिस थाना प्रभारी कुँवर सिंह मुकाती ने बताया कि घटना के बाद पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है और विस्तृत जांच जारी है। पीड़िता के पिता रंजीत राय ने बताया , ‘‘वह अपनी मां के मरने के बाद से सदमे में थी। दो दिन से कुछ खा-पी नहीं रही थी। मां की मौत होने से वह बहुत ज्यादा परेशान थी, जिससे उसने यह कदम उठाया है।’’ वहीं, दूसरी घटना में प्रदेश के देवास में छह दिन के अंदर कोरोना वायरस से 75 वर्षीय एक महिला एवं उसके दो बेटों सहित एक परिवार के तीन सदस्यों की मौत हो गई। इससे दुखी होकर इस महिला की छोटी बहू ने बुधवार को कथित रूप से फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। पारिवारिक सूत्रों ने यह जानकारी दी।

पारिवारिक सूत्रों के मुताबिक यह घटना अग्रवाल समाज, देवास के अध्यक्ष बालकिशन गर्ग के घर में हुई जिनकी खुद की तबीयत भी अत्यधिक खराब है। सूत्रों ने बताया कि सबसे पहले बालकिशन की पत्नी चंद्रकला (75) को संक्रमण हुआ और 14 अप्रैल को उनकी मौत हो गई, इसके ठीक दो दिन बाद उनके बड़े बेटे संजय (51) ने भी कोरोना के कारण दम तोड़ दिया, जबकि 19 अप्रैल को छोटे पुत्र स्वप्नेश (48) की भी कोरोना से मौत हो गई। सूत्रों के मुताबिक बालकिशन की छोटी बहू रेखा गर्ग (45) सास, पति एवं जेठ की मौत को सहन नहीं कर सकी, अवसाद की वजह से उसने बुधवार सुबह फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।

बालकिशन के बड़े बेटे की पत्नी हादसे के चलते सदमे में है। नगर पुलिस अधीक्षक विवेक सिंह चौहान ने बताया कि रेखा गर्ग द्वारा आत्महत्या करने की सूचना मिलते ही सिविल लाइन थाना पुलिस मौके पर पहुंची और शव को पोस्टमॉर्टम के लिए जिला चिकित्सालय भेजा। उन्होंने कहा कि शव का पोस्टमॉर्टम करने के बाद परिजनों को सौंप दिया गया है। चौहान ने बताया कि इस संबंध में मामला दर्ज कर विस्तृत जांच शुरू कर दी गई है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...