एक करोड़ 48 लाख रुपये की नकदी एवं गहनों के साथ यात्रा कर रहा व्यक्ति गिरफ्तार

arrested
कर्नाटक के मंगलुरु जंक्शन रेलवे स्टेशन से संबद्ध रेलवे सुरक्षा बल (आरपीएफ) के जवानों ने मुंबई एलटीटी-एर्नाकुलम दुरंतो एक्सप्रेस ट्रेन में 1.48 करोड़ रुपये की नकदी और 800 ग्राम सोने के गहनों के साथ यात्रा कर रहे एक व्यक्ति को रविवार को हिरासत में लिया।

मंगलुरु। कर्नाटक के मंगलुरु जंक्शन रेलवे स्टेशन से संबद्ध रेलवे सुरक्षा बल (आरपीएफ) के जवानों ने मुंबई एलटीटी-एर्नाकुलम दुरंतो एक्सप्रेस ट्रेन में 1.48 करोड़ रुपये की नकदी और 800 ग्राम सोने के गहनों के साथ यात्रा कर रहे एक व्यक्ति को रविवार को हिरासत में लिया। आरोपी के पास नकदी और गहनों के संबंध में कोई वैध दस्तावेज नहीं था। आरपीएफ ने यहां जारी एक विज्ञप्ति में बताया कि बाद में इस व्यक्ति को मेंगलुरु सेंट्रल रेलवे पुलिस को सौंप दिया गया। इसने कहा कि व्यक्ति की पहचान महेंद्र सिंह राव (33) के रूप में हुई हैजो राजस्थान के उदयपुर का रहनेवाला है। रेलवे पुलिस ने राव के खिलाफ कर्नाटक पुलिस अधिनियम और दंड प्रक्रिया संहिता के प्रावधानों के तहत मामला दर्ज किया है।

इसे भी पढ़ें: शादी का निमंत्रण पत्र दिखाने के बाद भी पुलिस ने नाइट कर्फ्यू के वक्त काट दिया चालान, जानें इस बारे में क्या कहता है नियम

आरपीएफ कर्मियों ने दुरंतो एक्सप्रेस में एहतियातन जांच के दौरान व्यक्ति को गिरफ्तार किया। उन्होंने एस4 डिब्बे में सवार इस व्यक्ति के सामान की जांच की और इस दौरान पुराने समाचार पत्रों में लपेटकर रखी गई नकदी मिली।

इसे भी पढ़ें: राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के प्रमुख शरद पवार कोरोना वायरस से संक्रमित

व्यक्ति ने आरपीएफ कर्मियों को बताया कि वह केरल के कोझिकोड में प्रवीण सिंह की कंपनी शुभ गोल्ड में काम करता है और कंपनी के मालिक के एक दोस्त ने उसे मुंबई में नोट के छह पैकेट और गहनों के तीन पैकेट दिए, जो मालिक को दिए जाने थे। जब्त की गई रकम में 2,000 और 500 रुपये के नोट हैं। यह राशि 1,48,58,000 करोड़ रुपये है, जबकि 800 ग्राम स्वर्ण आभूषणों की कीमत 40 लाख रुपये है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़