गाजीपुर लैंडफिल साइट पर भीषण आग लगी, AAP ने भाजपा और एमसीडी पर साधा निशाना

गाजीपुर लैंडफिल साइट पर भीषण आग लगी, AAP ने भाजपा और एमसीडी पर साधा निशाना

जानकारी मिलते ही दमकल विभाग की 6 गाड़ियां मौके पर पहुंच गई और आग बुझाने की कोशिश तेज कर दी गई। यह आग काफी भीषण थी। दमकल विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि आग बुझाने के लिए नौ दमकल वाहन घटनास्थल पर पहुंच गए हैं।

नयी दिल्ली। दिल्ली के गाजीपुर इलाके में सोमवार को लैंडफिल साइट (कचरा एकत्र करने वाला स्थान) पर भीषण आग लग गयी। यह आग इतनी भीषण थी कि इस से निकला धुंआ आनंद विहार से लेकर इंदिरापुरम तक फैल गया। जानकारी के मुताबिक के यहां आ गए आज दोपहर 2:30 बजे लगी। जानकारी मिलते ही दमकल विभाग की 6 गाड़ियां मौके पर पहुंच गई और आग बुझाने की कोशिश तेज कर दी गई। यह आग काफी भीषण थी। दमकल विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि आग बुझाने के लिए नौ दमकल वाहन घटनास्थल पर पहुंच गए हैं।

विभाग के मुताबिक, गाजीपुर लैंडफिल साइट में आग लगने की सूचना दमकल विभाग को अपराह्न 2.30 बजे मिली। मुख्य अग्निशमन अधिकारी अतुल गर्ग ने कहा कि आग बुझाने के प्रयास जारी हैं और अभी इसमें कुछ और घंटे लग सकते हैं। गर्ग ने कहा कि आग लगने के कारणों का अभी पता नहीं लग सका है। इस बीच, दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण समिति (डीपीसीसी) को इस घटना के संबंध में 24 घंटे के भीतर रिपोर्ट सौंपने का निर्देश दिया। उल्लेखनीय है कि पिछले साल अप्रैल में गाजीपुर लैंडफिल साइट पर आग लगने के बादडीपीसीसी ने पूर्वी दिल्ली नगर निगम पर 40 लाख रुपये का जुर्माना लगाया था।

इसे भी पढ़ें: The Kashmir Files: सिसोदिया का भाजपा पर निशाना, कहा- उन्हें सिर्फ फिल्म की चिंता है, कश्मीरी पंडितों की नहीं

दूसरी ओर इस आग पर राजनीति भी तेज हो गई है। आम आदमी पार्टी ने भाजपा और एमसीडी पर निशाना साधा है। आम आदमी पार्टी की आतिशी ने कहा कि इस आग की वजह से आसपास का पूरा इलाका धुंए से भर गया है और आसपास के लोगों को सांस लेने में तकलीफ हो रही है। उन्होंने कहा कि यह स्थिति आने वाले दो-तीन दिनों तक बनी रहेगी। उन्होंने कहा कि दिल्ली में जो तीन कूड़े के पहाड़ हैं, वह भाजपा शासित एमसीडी की देन है। 15 सालों में एमसीडी ने दिल्ली को तीन कूड़े के पहाड़ दिए हैं। साफ-सफाई कराना एमसीडी का काम होता है। लेकिन आज दिल्ली में साफ सफाई की बड़ी समस्या है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।