मेरठ महाशिवरात्रि,यूपी रोडवेज ने कांवड़ियों को उपलब्ध कराई 24 घण्टे बस सेवा,रात्रि में भी रहेंगी रिजर्व दो बसें

मेरठ महाशिवरात्रि,यूपी रोडवेज ने कांवड़ियों को उपलब्ध कराई 24 घण्टे बस सेवा,रात्रि में भी रहेंगी रिजर्व दो बसें

कांवड़ियों के लिए बसें 24 घंटा बस अड्‌डों पर रहेंगी। रात को भी बस के चालक, परिचालक बस अड्‌डे पर ही रहेंगे ताकि किसी भी कांवड़िये को दिक्कत न हो, उन्हें समय पर बसें मिलें और कांवड़ियों को गंतव्य तक पहुंचाया जा सके।

मेरठ,पश्चिमी यूपी में शिवरात्रि पर्व धूमधाम से मनाया जाता है। सावन मास की शिवरात्रि में भारी संख्या में यहां शिवभक्त कांवड़िये हरिद्वार और गौमुख से गंगाजल लाकर भगवान शिव को अर्पण करते हैं। मार्च की महाशिवरात्रि में भी कांवड़ चढ़ाने की परंपरा है, लेकिन इसमें कांवड़ियों की संख्या कम होती है।

उत्तर प्रदेश में इस समय विधानसभा चुनाव चल रहे हैं। चार चरणों का चुनाव हो चुका है लेकिन तीन चरण का मतदान होना अभी शेष है। मेरठ और वेस्टर्न यूपी के सभी जिलों में पहले, दूसरे चरण में मतदान हो चुका है। लेकिन चुनाव के कारण बसों की समस्या अभी भी बरकरार है।

मेरठ में भगवान भोलेनाथ के भक्ती में कांवड़ लेकर जाने वाले कावंड़ियों की सुविधा के लिए महाशिवरात्रि पर रात को भी बसें उपलब्ध रहेंगी। कांवड़ियों के लिए बसें 24 घंटा बस अड्‌डों पर रहेंगी। रात को भी बस के चालक, परिचालक बस अड्‌डे पर ही रहेंगे ताकि किसी भी कांवड़िये को दिक्कत न हो, उन्हें समय पर बसें मिलें और कांवड़ियों को गंतव्य तक पहुंचाया जा सके। साथ ही यूपी रोडवेज द्वारा उनके आवागमन के लिए दो बसों को रिजर्व रखने का आदेश किया गया है। विभाग का मकसद है कि दूरदराज से आने वाले कांवड़ियों को यात्रा में किसी प्रकार की असुविधा न होने पाए।

चूँकि बस अड्‌डों पर चुनाव के कारण यात्रियों को बसें नहीं मिल रहीं। रोडवेज की सभी बसों को दूसरे जिलों में चुनाव में लगा दिया गया है। इसके चलते यात्रियों को समस्या हो रही है। बसों की कमी से कांवड़ियों को दिक्कत न हो इसलिए अतिरिक्त दो बसें उनके लिए रिजर्व रखी जाएंगी।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...