महबूबा मुफ्ती ने केंद्र सरकार पर लगाया संविधान का सम्मान नहीं करने का आरोप, कही यह अहम बात

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  दिसंबर 29, 2020   19:01
महबूबा मुफ्ती ने केंद्र सरकार पर लगाया संविधान का सम्मान नहीं करने का आरोप, कही यह अहम बात

पीडीपी अध्यक्षा महबूबा मुफ्ती ने कहा कि सरकार कृषि कानून लाई और किसान इसके विरोध में कड़ाके की ठंड में भी सड़कों पर उतरे हुए हैं। अगर कानून किसानों को स्वीकार नहीं हैं तो क्या ये उनके फायदे के लिए हो सकते हैं?

श्रीनगर। पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) की अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने मंगलवार को जोर देकर कहा कि गुपकर गठबंधन देश के संविधान के दायरे में रहकर जम्मू-कश्मीर के विशेष दर्जे की बहाली के लिए संघर्ष कर रहा है। उन्होंने तीन नए कृषि कानूनों को लेकर भाजपा नीत केंद्र सरकार की आलोचना भी की, जिसके खिलाफ किसान आंदोलनरत हैं। 

इसे भी पढ़ें: गुपकार के दावे सही हैं या भाजपा के ? जम्मू-कश्मीर में वास्तव में जीता कौन है? 

श्रीनगर में एक पार्टी कार्यक्रम के दौरान महबूबा ने कहा कि सरकार कृषि कानून लाई और किसान इसके विरोध में कड़ाके की ठंड में भी सड़कों पर उतरे हुए हैं। अगर कानून किसानों को स्वीकार नहीं हैं तो क्या ये उनके फायदे के लिए हो सकते हैं? अगर आप ऐसे कानून लाते हैं जोकि लोगों को ही स्वीकार नहीं हैं तो आप देश के संविधान का अपमान कर रहे हैं। 

इसे भी पढ़ें: महबूबा मुफ्ती का आरोप, जांच एजेंसियों को हथियार की तरह इस्तेमाल कर रहा केंद्र 

उन्होंने आरोप लगाया कि जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा समाप्त करके सरकार ने संविधान का अपमान किया है। पूर्व मुख्यमंत्री ने पूछा कि नेशनल कॉन्फ्रेंस स्वायत्तता की बात करती है और यह संविधन के दायरे में है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।