गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने दिया आदेश, कहा - MP पुलिस आरक्षक भर्ती परीक्षा की होगी जांच

गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने दिया आदेश, कहा - MP पुलिस आरक्षक भर्ती परीक्षा की होगी जांच

गृह मंत्री ने कहा कि रिजल्ट जो आया है स्पष्ट है। यदि किसी ने इस तरह का कूट रचित काम किया है तो हमें आकर बताएं। कल कुछ अभ्यर्थियों ने मुलाकात की थी। वरिष्ठ अधिकारियों से मैंने की बातचीत की है।

भोपाल। मध्य प्रदेश पुलिस आरक्षक भर्ती परीक्षा और परिणाम में सवाल उठने के बाद पीईबी ने अपना स्पष्टीकरण दिया है। जिसके बाद प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने पुलिस आरक्षक भर्ती परीक्षा के जांच के आदेश दिए हैं।

बताया जा रहा है कि इसकी जांच की जिम्मेदारी MAPIT के जरिए कराई जाएगी। आरक्षक भर्ती में सामने आई गड़बड़ी को लेकर कैंडिडेट्स ने गृह मंत्री से मुलाकात की थी।  जानकारी मिली है कि कैंडिडेट्स ने भर्ती परीक्षा में गड़बड़ी के आरोप लगाए थे।

इसे भी पढ़ें:जनता को महंगाई की मार, 112 रुपए पहुंची पेट्रोल की कीमत, डीजल हुआ 95 के पार, 

वहीं गृह मंत्री ने कहा कि रिजल्ट जो आया है स्पष्ट है। यदि किसी ने इस तरह का कूट रचित काम किया है तो हमें आकर बताएं। कल कुछ अभ्यर्थियों ने मुलाकात की थी। वरिष्ठ अधिकारियों से मैंने की बातचीत की है। उन्होंने कहा कि MAPIT के माध्यम से जांच के भी निर्देश दिए हैं।

दरअसल पीईबी ने ट्वीट के जरिए अपना जवाब दिया है। लिखा है कि पुलिस आरक्षक भर्ती परीक्षा-2020 जनवरी-फरवरी 2022 में आयोजित की गई और उसका प्रथम चरण का परिणाम भी पुलिस मुख्यालय मध्यप्रदेश द्वारा हस्ताक्षरित नियम पुस्तिका के आधार पर ही दिनांक 24 मार्च 2022 को घोषित किया गया है। 6000 पदों के लिए प्रथम चरण में 05 गुना (लगभग 30000) अभ्यर्थियों की लिस्ट पुलिस विभाग को उपलब्ध कराई गई है।

इसे भी पढ़ें:पुलसि आरक्षक भर्ती परीक्षा में हुए घोटाले का पीईबी ने दिया स्पष्टीकरण, ट्वीट कर दिया जवाब 

पीईबी ने लिखा कि फाइनल रिजल्ट वर्गवार और आरक्षण नियमों के आधार पर होता है। इसलिए पुलिस आरक्षक भर्ती परीक्षा और प्रथम चरण के रिजल्ट में अभ्यर्थियों को कोई शंका करने की आवश्यकता नहीं है। पीईबी यह आश्वस्त करता है कि परीक्षा नियम पुस्तिका के अनुसार कराई गई है और परिणाम भी पारदर्शी होगा।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...