क्या साजिश का शिकार हुए पार्थ चटर्जी ? बोले- समय आने पर चलेगा पता, पैसा मेरा नहीं

Partha Chatterjee
ANI Image
स्कूल भर्ती घोटाले के आरोपी पार्थ चटर्जी को मेडिकल जांच के लिए ईएसआई अस्पताल लाया गया। इसी बीच संवाददाताओं ने पार्थ चटर्जी से पूछा कि इस साजिश के पीछे किसका हाथ है। जिस पर उन्होंने कहा कि समय आने पर आपको पता चल जाएगा...पैसा मेरा नहीं है।

कोलकाता। स्कूल भर्ती घोटाला में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) द्वारा गिरफ्तार किए गए पश्चिम बंगाल के पूर्व मंत्री पार्थ चटर्जी को रविवार को मेडिकल जांच के लिए ईएसआई अस्पताल लाया गया। दरअसल, पार्थ चटर्जी और उनकी सहयोगी अर्पिता मुखर्जी को ईडी ने गिरफ्तार किया है। अर्पिता मुखर्जी के फ्लैट से ईडी को भारी मात्रा में नकदी और सोना बरामद हुआ है।

इसे भी पढ़ें: कपड़ा कंपनी की मदद से की गई पैसे की हेराफेरी, दुर्गा पूजा के दौरान बड़ी रकम करता था दान

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, स्कूल भर्ती घोटाले के आरोपी पार्थ चटर्जी को मेडिकल जांच के लिए ईएसआई अस्पताल लाया गया। इसी बीच संवाददाताओं ने पार्थ चटर्जी से पूछा कि इस साजिश के पीछे किसका हाथ है। जिस पर उन्होंने कहा कि समय आने पर आपको पता चल जाएगा...पैसा मेरा नहीं है। 

इसे भी पढ़ें: क्या है राजनीति का चर्चित 'कामराज प्लान'? जिसकी तर्ज पर ममता करवा सकती हैं पूरे कैबिनेट का इस्तीफा 

मेरे खिलाफ हो रही साजिश

इससे पहले मंत्रिपद और तृणमूल कांग्रेस के तमाम पद से हटाए जाने के बाद पार्थ चटर्जी ने कहा था कि उनके खिलाफ साजिश की जा रही है। उन्होंने कहा था कि समय बताएगा कि तृणमूल कांग्रेस ने उनके खिलाफ जो कार्रवाई की वह उचित थी या नहीं। आपको बता दें कि अर्पिता मुखर्जी के फ्लैट से करोड़ों रुपए और सोना बरामद होने के बाद पार्थ चटर्जी को तृणमूल कांग्रेस ने महासचिव, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और तीन अन्य पदों के साथ हटा दिया था।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़