कपड़ा कंपनी की मदद से की गई पैसे की हेराफेरी, दुर्गा पूजा के दौरान बड़ी रकम करता था दान, ED की जांच में कई चौंकाने वाले खुलासे

ED investigation
creative common
अभिनय आकाश । Jul 30, 2022 12:41PM
ईडी के सूत्रों के मुताबिक एक कपड़ा कंपनी की मदद से पैसे की हेराफेरी की गई। पार्थ ने इस कपड़ा कंपनी के मालिक के साथ बारासात में अच्छा समय बिताया। पार्थ को संगठन के कई समारोहों में भी देखा गया था। आनंदबाजार पत्रिका की खबर के अनुसार अर्पिता का इस कंपनी के मालिक से भी खास परिचय था।

पश्चिम बंगाल में शिक्षक भर्ती घोटाला मामले में ईडी की कार्रवाई जारी है। मामले में राज्य के पूर्व मंत्री पार्थ चटर्जी की करीबी अर्पिता मुखर्जी के घरों से 50 करोड़ से ज्यादा की बरामदगी हो चुकी है। इसके साथ ही पांच किलो सोना भी बरामद किया गया है। ईडी ने राज्य भर्ती 'भ्रष्टाचार' मामले की जांच के सिलसिले में अपदस्थ मंत्री पार्थ चटर्जी और उनकी 'करीबी' अर्पिता मुखर्जी को गिरफ्तार किया है। पार्थ-अर्पिता की गिरफ्तारी के बाद से ही ईडी ने पैसों के लेन-देन और संपत्ति से जुड़ी कई अनियमितताओं का पता लगाया है। 

इसे भी पढ़ें: ED की कार्रवाई पर चुप्पी तोड़ते हुए पार्थ चटर्जी ने कहा, मेरे खिलाफ हो रही है साजिश

हालांकि इस बार ईडी के हाथ एक और सनसनीखेज जानकारी आई है। ईडी के सूत्रों के मुताबिक एक कपड़ा कंपनी की मदद से पैसे की हेराफेरी की गई। पार्थ ने इस कपड़ा कंपनी के मालिक के साथ बारासात में अच्छा समय बिताया। पार्थ को संगठन के कई समारोहों में भी देखा गया था। आनंदबाजार पत्रिका की खबर के अनुसार अर्पिता का इस कंपनी के मालिक से भी खास परिचय था।  ईडी के सूत्रों को यह भी पता चला कि यह संगठन 'पार्थ चटर्जी की पूजा' के नाम से मशहूर नकटला उदयन संघ की दुर्गा पूजा के दौरान बड़ी रकम दान करता था। 

इसे भी पढ़ें: क्या है राजनीति का चर्चित 'कामराज प्लान'? जिसकी तर्ज पर ममता करवा सकती हैं पूरे कैबिनेट का इस्तीफा

ईडी सूत्रों के मुताबिक इस कंपनी के मालिक से जल्द ही पूछताछ हो सकती है. सूत्रों से यह भी पता चलता है कि ईडी जांच की शुरुआत से ही इस संगठन पर नजर रखे हुए थी। संयोग से जांच के दौरान आरोपी अर्पिता के तल्लीगंज और बेलघरिया स्थित दो फ्लैटों से करीब 50 करोड़ रुपये बरामद किए गए हैं। हालांकि अर्पिता का दावा है कि ये सारा पैसा पर्थ का है। हालांकि इस पैसे की बरामदगी के बाद से ईडी के अधिकारियों ने अर्पिता से जुड़े कई जगहों पर छापेमारी की है. कई अहम दस्तावेज भी बरामद और यह ज्ञात है कि उस स्रोत के आधार पर जांच चल रही है। इसके अलावा पार्थ-अर्पणा से लगातार पूछताछ की जा रही है। 

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़