बिम्स्टेक राष्ट्रों के बीच अधिक सहयोग समय की जरूरत: प्रधानमंत्री मोदी

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मार्च 30, 2022   11:16
बिम्स्टेक राष्ट्रों के बीच अधिक सहयोग समय की जरूरत: प्रधानमंत्री मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को बिम्स्टेक देशों के बीच अधिक सहयोग का आह्वान करते हुए कहा कि यह बंगाल की खाड़ी को संपर्क, समृद्धि और सुरक्षा का सेतु बनाने का वक्त है।

नयी दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को बिम्स्टेक देशों के बीच अधिक सहयोग का आह्वान करते हुए कहा कि यह बंगाल की खाड़ी को संपर्क, समृद्धि और सुरक्षा का सेतु बनाने का वक्त है। पांचवें बहु-क्षेत्रीय तकनीकी एवं आर्थिक सहयोग के लिए बंगाल की खाड़ी पहल (बिम्स्टेक) शिखर सम्मेलन में अपने शुरुआती संबोधन में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि इस ऐतिहासिक शिखर सम्मेलन के परिणाम बिम्स्टेक के इतिहास में एक स्वर्णिम अध्याय लिखेंगे।

इसे भी पढ़ें: Prabhasakshi Newsroom। क्या रूस पर विश्वास करेगा यूक्रेन ? सामने आया जेलेंस्की का चौंका देने वाला बयान

उन्होंने कहा कि भारत बिम्स्टेक सचिवालय के परिचालन बजट को बढ़ाने के लिए सहयोग के रूप में 10 लाख अमेरिकी डॉलर प्रदान करेगा। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि यूरोप में हाल के घटनाक्रम ने अंतरराष्ट्रीय व्यवस्था की स्थिरता पर सवालिया निशान लगा दिया है। उन्होंने कहा कि इस संदर्भ में बिम्स्टेक क्षेत्रीय सहयोग को और अधिक सक्रिय बनाना महत्वपूर्ण हो गया है। उन्होंने कहा कि बिम्स्टेक देशों के बीच आपसी व्यापार बढ़ाने के लिए बिम्स्टेक एफटीए प्रस्ताव पर आगे बढ़ना जरूरी है। उन्होंने कहा कि हमारा क्षेत्र स्वास्थ्य और आर्थिक सुरक्षा की चुनौतियों का सामना कर रहा है, ऐसे में एकता और सहयोग समय की मांग है।

इसे भी पढ़ें: IPL 2022 का पहला विवाद आया सामने, RCB पर भारी है KKR, दोनों के बीच हो चुके हैं 29 मुकाबले

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘आज बंगाल की खाड़ी को संपर्क, समृद्धि, सुरक्षा का सेतु बनाने का समय है।’’ भारत के अलावा, बिम्स्टेक सदस्य देशों में श्रीलंका, बांग्लादेश, म्यांमा, थाईलैंड, नेपाल और भूटान शामिल हैं। शिखर सम्मेलन ‘बिम्स्टेक चार्टर’ को अपनाएगा जो समूह को एक अंतरराष्ट्रीय पहचान देगा और बुनियादी संस्थागत ढांचे को तैयार करेगा जिसके माध्यम से समूह अपना काम करेगा।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...