राजस्थान में लॉकडाउन का पालन नहीं करने पर अब तक 10 हजार से अधिक लोग गिरफ्तार

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 24, 2020   18:46
राजस्थान में लॉकडाउन का पालन नहीं करने पर अब तक 10 हजार से अधिक लोग गिरफ्तार

कोरोना वायरस संक्रमण महामारी के बीच राज्य में 22 मार्च से लॉकडाउन लागू है। अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (अपराध) बी एल सोनी ने बताया कि इस दौरान अकारण बाहर घूमने वाले लगभग 9,000 लोगों को 151 सीआरपीसी के तहत गिरफ्तार किया गया है।

जयपुर। राजस्थान में लॉकडाउन का उल्लंघन कर अकारण घूमते मिले करीब 9,000 लोगों को पुलिस ने शांति भंग के आरोप में गिरफ्तार किया है। सभी मामलों को मिलाकर पुलिस ने अब तक करीब 10हजार लोगों को गिरफ्तार किया है। कोरोना वायरस संक्रमण महामारी के बीच राज्य में 22 मार्च से लॉकडाउन लागू है। अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (अपराध) बी एल सोनी ने बताया कि इस दौरान अकारण बाहर घूमने वाले लगभग 9,000 लोगों को 151 सीआरपीसी के तहत गिरफ्तार किया गया है।

उन्होंने बताया कि अकारण घूमते मिले एक लाख 91 हजार वाहनों का एमवी एक्ट के तहत चालान कर एक लाख तीन हजार वाहनों को जब्त किया गया है औरएक करोड़ रुपये से अधिक जुर्माना वसूल किया गया है। उन्होंने कहा, ‘‘इस वैश्विक महामारी से बचाव के लिए राज्य सरकार के निर्देशानुसार समस्त राज्य में लॉकडाउन घोषित कर धारा 144 लगाई गई है। इस दौरान लॉकडाउन उल्लंघन के करीब 1350 मामले दर्ज कर 3200 व्यक्तियों के खिलाफ कार्रवाई की गई है। पुलिस ने सोशल मीडिया के दुरुपयोग के मामले में प्रभावी कार्रवाई करते हुए अब तक 164 मामले दर्ज कर 237 लोगों के खिलाफ अभियोग दर्ज किया गया है।’’ 

इसे भी पढ़ें: राजस्थान के लोक कलाकारों को रोज शाम साज बजे सोशल मीडिया पर सुन सकते हैं लाइव

कुल मिलाकर लॉकडाउन के नियमों की पालन नहीं कर रहे 10 हजार से अधिक व्यक्तियों को विभिन्न धाराओं में गिरफ्तार किया गया। सोनी ने बताया कि काला बाजारी करने वाले लोगों पर भी पुलिस की पैनी नजर है। उन्होंने बताया कि लॉकडाउन के दौरान काला बाजारी करते पाये गये दुकानदारों के विरुद्ध अत्यावश्यक वस्तु अधिनियम के तहत 109 मामले दर्ज कर कार्रवाई की जा रही है। उन्होंने बताया कि लॉकडाउन का पालन कराने के लिए राजस्थान पुलिस के करीब 80 हजार जवान व होमगार्ड के 20 हजार सहित करीब एक लाख जवानों का बल प्रदेश में तैनात है। 





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...