योगी सरकार टेस्टिंग पर दे रही जोर, UP में अबतक 4.5 करोड़ से अधिक लोगों को लगी वैक्सीन

योगी सरकार टेस्टिंग पर दे रही जोर, UP में अबतक 4.5 करोड़ से अधिक लोगों को लगी वैक्सीन

अपर मुख्य सचिव ‘सूचना’ नवनीत सहगल ने बताया कि 54 जनपदों में संक्रमण का एक भी नया केस नहीं पाया गया, जबकि 21 जनपदों में इकाई अंक में मरीज पाए गए।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार में अपर मुख्य सचिव ‘सूचना’ नवनीत सहगल ने बताया कि मुख्यमंत्री के 3टी ट्रेस, टेस्ट और ट्रीट अभियान के साथ-साथ अभिनव प्रयोग करते हुए आशिंक कोरोना कर्फ्यू तथा टीकाकरण से प्रदेश में दूसरी लहर के कोरोना संक्रमण को नियंत्रित किया गया है। इस अभिनव प्रयोग में कोरोना संक्रमण में निरन्तर कमी आ रही है। प्रदेश में संक्रमण अन्य प्रदेशों की तुलना में न्यूनतम स्तर पर है। उन्होंने बताया कि 54 जनपदों में संक्रमण का एक भी नया केस नहीं पाया गया, जबकि 21 जनपदों में इकाई अंक में मरीज पाए गए। उन्होंने बताया कि 97 हजार ग्रामीण पंचायतों में 5 मई, 2021 से एक विशेष अभियान चलाकर, जिसमें 80 हजार निगरानी समितियों द्वारा घर-घर जाकर सर्वेक्षण किया गया। जिनमें किसी प्रकार के संक्रमण के लक्षण होने पर टेस्ट के साथ इलाज की भी व्यवस्था की गयी है। सर्विलांस के माध्यम से प्रदेश की 23 करोड़ जनता में से लगभग 17.24 करोड़ लोगों तक स्वास्थ्य विभाग की टीमें पहुच कर उनका हालचाल जाना है। 

इसे भी पढ़ें: यूपी में दूसरे दिन भी एंबुलेंस कर्मियों की हड़ताल, दांव पर लगी मरीजों की जान 

सहगल ने बताया कि 3टी के करण ही 30 अप्रैल के एक्टिव मामले 3,10,783 घटकर आज 798 तथा 23 अप्रैल के प्रतिदिन कोविड केस 38 हजार से घटकर आज 36 हो गये है। प्रदेश सरकार ने टेस्टिंग पर बहुत जोर दिया हैं। प्रदेश में सक्रिय मामले कम होने पर भी कोविड-19 के टेस्ट करने की संख्या घटाई नहीं की जा रही हैं। विगत 24 घंटों में 2,25,009 कोविड टेस्ट किये गये है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में कोविड टीकाकरण का कार्य तेजी से किया जा रहा है। कल 8,20,064 डोज तथा अब तक लगभग 4 करोड़ 52 लाख से अधिक कोविड की डोज दी जा चुकी है। लगभग 03 करोड़ 78 लाख पहली डोज दी जा चुकी है। सम्भावित तीसरी लहर से पहले राज्य सरकार ने व्यापक तैयारी की है। उन्होंने बताया कि प्रदेश सरकार द्वारा कोविड-19 की संभावित तीसरी लहर के दृष्टिगत बच्चों के लिए 6700 से अधिक पीकू बेड तैयार कर लिये गये है। अस्पतालों को ऑक्सीजन में आत्मनिर्भर बनाने हेतु 548 ऑक्सीजन प्लांट स्वीकृत किये गये जिसमें 238 ऑक्सीजन प्लांट संचालित हो गये है। उन्होंने कहा कि कोविड संक्रमण अभी पूरी तरह समाप्त नहीं हुआ है। सभी लोगों को सावधानी बरतने की आवश्यकता है। सभी लोग कोविड अनुरूप आचरण का पालन करे। 

इसे भी पढ़ें: UP में संक्रमण दर कम होने पर भी टेस्टिंग जारी, 53 जिलों में नहीं मिला एक भी नया मामला 

सहगल ने बताया मुख्यमंत्री द्वारा कोविड-19 प्रबंधन हेतु गठित टीम-09 में निर्देश दिये गये है कि मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना और मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह आदि योजना का अभियान चलाकर पात्र व्यक्तियों को जोड़ा जाए तथा महिलाओं को स्वावलंबित बनाया जाये। मुख्यमंत्री जी ने निर्देश पर आयुष्मान योजना पात्र परिवारों के लिए गोल्डन कार्ड बनाने का विशेष अभियान प्रारम्भ हो गया है। कल पहले दिन 26 हजार नए परिवारों को इस योजना से जोड़ा गया। इसके अतिरिक्त, ऐसे अन्त्योदय कार्डधारक परिवार, जो प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना अथवा मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना में से किसी भी योजना से आच्छादित नहीं हैं, को मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना में शामिल करने का निर्णय लिया गया है। 40 लाख से अधिक अंत्योदय कार्डधारक परिवार इस निर्णय से सीधे लाभान्वित होंगे। मुख्यमंत्री जी ने निर्देश दिये है कि सभी ग्राम पंचायतों में ग्राम सचिवालय/ग्राम पंचायत भवन की स्थापना की जाए। अगले तीन माह में प्रदेश के सभी ग्राम पंचायतों में ग्राम सचिवालय/पंचायत भवन निर्माण का कार्य पूर्ण कर लिया जाए।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।