‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ के तहत कुल आवंटन का 54 प्रतिशत खर्च मीडिया पैरोकारी पर हुआ: सरकार

Beti Bachao Beti Padhao
Creative Common Licences.
महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने लोकसभा में एक प्रश्न के लिखित उत्तर में यह जानकारी दी। इस योजना का मुख्य उद्देश्य लिंग अनुपात में सुधार करना एवं बेटी के माता-पिता को बेटियों को उच्च शिक्षा प्रदान करने के लिए प्रोत्साहित करना है।

नयी दिल्ली| सरकार ने बुधवार को कहा कि 2014-22 के दौरान ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ योजना के लिए मीडिया के माध्यम से पैरोकारी करने पर 401 करोड़ खर्च किए गए जो इस योजना पर कुल खर्च का 54 प्रतिशत है।

महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने लोकसभा में एक प्रश्न के लिखित उत्तर में यह जानकारी दी। इस योजना का मुख्य उद्देश्य लिंग अनुपात में सुधार करना एवं बेटी के माता-पिता को बेटियों को उच्च शिक्षा प्रदान करने के लिए प्रोत्साहित करना है।

स्मृति ईरानी ने कहा कि वित्त वर्ष 2014-15 के दौरान इस योजना पर 740.18 करोड़ रुपये खर्च हुए तथा इसमें 401.04 करोड़ रुपये मीडिया के माध्यम से की जाने वाली पैरोकारी पर खर्च हुआ जो कुल खर्च का 54 प्रतिशत है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़