एमपी महिला कांग्रेस की अध्यक्ष को पद से हटाया, कार्यकारिणी विवाद के बाद लिया गया फैसला

एमपी महिला कांग्रेस की अध्यक्ष को पद से हटाया, कार्यकारिणी विवाद के बाद लिया गया फैसला

कार्यकारिणी में हुए विवाद के बाद प्रदेश महिला कांग्रेस को भंग कर दिया गया है। इस कार्यकारिणी को भंग करने के बाद सिर्फ चार प्रदेश उपाध्यक्ष बनाए गए हैं। अखिल भारतीय महिला कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव ने यह आदेश दिया है।

भोपाल। मध्यप्रदेश में इस वक्त की सबसे बड़ी खबर सामने आ रही है प्रदेश महिला कांग्रेस की अध्यक्ष अर्चना जायसवाल को AICC ने उनके पद से हटा दिया है। कार्यकारिणी विवाद के बाद AICC ने इसका फैसला लिया है जुलाई 2021 को अर्चना जायसवाल की इस पद पर नियुक्ति हुई थी।

दरअसल कार्यकारिणी में हुए विवाद के बाद प्रदेश महिला कांग्रेस को भंग कर दिया गया है। इस कार्यकारिणी को भंग करने के बाद सिर्फ चार प्रदेश उपाध्यक्ष बनाए गए हैं। अखिल भारतीय महिला कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव ने यह आदेश दिया है।

इसे भी पढ़ें:बेटी को यूक्रेन से वापिस लाने के लिए मां ने मांगी सीएम हेल्पलाइन से मदद, जवाब मिला कि यूक्रेन के थाने में करें रिपोर्ट 

आपको बता दें कि 30 जनवरी को अर्चना जायसवाल द्वारा महिला कांग्रेस की नई कार्यकारिणी बनाई गई थी। जिसके बाद प्रदेश और जिला कार्यकारिणी को लेकर विवाद शुरू हो गया था। नूरी खान रश्मि भारद्वाज कविता पांडे जमुना मरावी महिला कांग्रेस में उपाध्यक्ष के पद पर बनी रहेंगी। वहीं अर्चना जायसवाल को अध्यक्ष पद से हटा दिया गया है।

वहीं भोपाल में हुई कांग्रेस की बड़ी बैठक में कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने चेतावनी देते हुए यह कहा था कि अगर 24 फरवरी तक रिपोर्ट पेश नहीं की गई तो 25 फरवरी को उन कार्यकर्ताओं को हटा दिया जाएगा। लेकिन 25 फरवरी से पहले ही कांग्रेस में महिला विंग की अध्यक्ष को भी हटा दिया गया है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।