शिवराज की अध्यक्षता में बदला गया MP मेट्रो रेल कंपनी का नाम, जानिए क्या रखा गया

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अगस्त 27, 2020   15:03
शिवराज की अध्यक्षता में बदला गया MP मेट्रो रेल कंपनी का नाम, जानिए क्या रखा गया

अधिकारी ने बताया कि कंपनी को बोर्ड बनाए जाने के संबंध में भारत सरकार, मध्य प्रदेश सरकार एवं मध्य प्रदेश मेट्रो रेल कंपनी लिमिटेड के बीच 19 अगस्त 2019 को त्रिपक्षीय एमओयू साइन किया गया था। बुधवार की बैठक में इस प्रस्ताव को मंजूरी प्रदान की गयी।

भोपाल। मध्य प्रदेश के भोपाल और इन्दौर शहरों में मेट्रो रेल चलाने के लिये गठित मध्य प्रदेश मेट्रो रेल कंपनी लिमिटेड को अब मध्य प्रदेश मेट्रो रेल कॉरपोरेशन के नाम से जाना जायेगा। जनसंपर्क विभाग के एक अधिकारी ने बृहस्पतिवार को बताया कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की अध्यक्षता में बुधवार को कंपनी की निदेशक मंडल की बैठक में कंपनी का नाम बदलकर ‘‘मध्य प्रदेश मेट्रो रेल कॉरर्पोरेशन’’ करने का निर्णय लिया गया। अधिकारी ने बताया कि कंपनी को बोर्ड बनाए जाने के संबंध में भारत सरकार, मध्य प्रदेश सरकार एवं मध्य प्रदेश मेट्रो रेल कंपनी लिमिटेड के बीच 19 अगस्त 2019 को त्रिपक्षीय एमओयू साइन किया गया था। बुधवार की बैठक में इस प्रस्ताव को मंजूरी प्रदान की गयी। 

इसे भी पढ़ें: दिल्ली में मेट्रो सेवा बहाल करने के पक्ष में भाजपा, आदेश गुप्ता ने हरदीप पुरी से की मुलाकात 

कॉरपोरेशन के प्रबंध निदेशक नीतेश व्यास ने बताया कि त्रिपक्षीय समझौते के अनुसार नए बोर्ड में भारत सरकार के 5 संचालक तथा मध्य प्रदेश सरकार के 5 संचालक (प्रबंध संचालक सहित) शामिल होंगे। मध्य प्रदेश सरकार के नगरीय विकास आयुक्त इसके प्रबंध संचालक होंगे तथा प्रमुख सचिव वित्त, राजस्व, लोक निर्माण विभाग तथा नगरीय विकास विभाग इसके संचालक होंगे। चौहान ने बैठक में निर्देश दिए कि इस संबंध में आगामी कार्यवाहियां तत्परता के साथ पूर्ण की जाएं, जिससे प्रदेश के इंदौर-भोपाल शहरों में मेट्रो रेल के कार्य को गति प्रदान कर लक्षित समय 3 से 4 वर्ष में पूर्ण किया जा सके। भारत सरकार के मेट्रो रेल अधिनियमों के अंतर्गत मेट्रो निर्माण क्षेत्र को मेट्रोपोलिटन क्षेत्र घोषित किया जाना आवश्यक है। इस संबंध में बैठक में इंदौर एवं भोपाल मेट्रो क्षेत्रों को मेट्रोपोलिटन क्षेत्र घोषित किए जाने संबंधी कार्रवाई किए जाने का निर्णय लिया गया।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।