'सफल नहीं होंगे बागी विधायक', प्रियंका चतुर्वेदी ने दिखाए सख्त तेवर, निर्दलियों ने उठाई डिप्टी स्पीकर को हटाने की मांग

Priyanka Chaturvedi
प्रतिरूप फोटो
ANI Image
शिवसेना सांसद प्रियंका चतुर्वेदी ने कहा कि हम शिव सैनिक हैं, लड़ेंगे और जीतेंगे। वे (बागी विधायक) जो कर रहे हैं वह कानूनी और राजनीतिक रूप से संभव नहीं है। शिवसेना के साथ ऐसा पहली बार नहीं हो रहा है। ऐसा पहले भी हुआ था लेकिन वह व्यर्थ रहा था। इस बार भी यह सफल नहीं होगा।

मुंबई। महाराष्ट्र में जारी सियासी ड्रामे के बीच शिवसेना सांसद प्रियंका चतुर्वेदी का बयान सामने आया है। जिसमें उन्होंने बागी विधायकों द्वारा अपनाए गए रुख को लेकर स्पष्ट संदेश दिया है। दरअसल, एकनाथ शिंदे के नेतृत्व में शिवसेना के बागी विधायकों ने असम की राजधानी गुवाहाटी के रेडिसन ब्लू होटल में अपना डेरा जमाया हुआ है। जिसके बाहर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था है। 

इसे भी पढ़ें: महाराष्ट्र: आदित्य ठाकरे का इमोशनल कार्ड, बोले- जिनको हमने पाला था, उन्होंने ही हमें धोखा दिया 

इसी बीच शिवसेना सांसद ने कहा कि हम शिव सैनिक हैं, लड़ेंगे और जीतेंगे। वे (बागी विधायक) जो कर रहे हैं वह कानूनी और राजनीतिक रूप से संभव नहीं है। शिवसेना के साथ ऐसा पहली बार नहीं हो रहा है। ऐसा पहले भी हुआ था लेकिन वह व्यर्थ रहा था। इस बार भी यह सफल नहीं होगा।

सत्ता का नहीं हूं लालची

सियासी ड्रामे के बीच मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने ज़िला नेताओं के साथ बैठक की। इस बैठक में उन्होंने कहा कि मैं सत्ता का लालची नहीं हूं। जो लोग कहते थे हम मर जाएंगे लेकिन शिवसेना को कभी नहीं छोड़ेंगे, आज भाग गए। बागी विधायक शिवसेना को तोड़ना चाहते हैं अगर उनमें हिम्मत है तो उन्हें बालासाहेब और शिवसेना का नाम लिए बिना लोगों के बीच जाना चाहिए। 

इसे भी पढ़ें: महाराष्ट्र के एक शख्स ने राज्यपाल को लिखा पत्र, कहा- सियासी ड्रामा खत्म होने तक मुझे नियुक्त करें कार्यवाहक CM 

डिप्टी स्पीकर को हटाने की उठी मांग

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) समर्थक दो निर्दलीय विधायकों (योगेश बाल्दी और विनोद अग्रवाल) ने डिप्टी स्पीकर नरहरि जिरवाल को पद से हटाने की मांग की। दरअसल, डिप्टी स्पीकर ने शिवसेना विधायक अजय चौधरी को पार्टी विधायक दल का नया नेता नियुक्त किए जाने को मंजूरी दे दी। जिस पर दोनों निर्दलीय विधायकों ने आपत्ति जताई है। निर्दलीय विधायक योगेश बाल्दी ने कहा कि डिप्टी स्पीकर ऐसे निर्णय नहीं ले सकते क्योंकि यह अध्यक्ष का विशेषाधिकार होता है। हम जल्द ही इस संबंध में कानूनी कदम उठाएंगे।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़