• मेरा गठबंधन BJP के साथ, नीतीश ने तो इनके हर फैसले का किया है विरोध: चिराग पासवान

अंकित सिंह Jun 26, 2021 15:10

चिराग में आगे कहा कि हम लोगों का पक्ष इतना मजबूत है कि मुझे इसमें कोई संदेह नहीं है कि पापा ने जो पार्टी अपने खून-पसीने से बनाई ​थी, उसका नाम और चिन्ह दोनों हमारे पास रहेंगे। इससे पहले चिराग पासवान ने अपनी सहयोगी पार्टी भाजपा के रवैये पर दुख जताया।

रामविलास पासवान की पार्टी लोक जनशक्ति पार्टी में जारी उठापटक के बीच चिराग पासवान ने भाजपा को लेकर बड़ा बयान दिया है। दरअसल, न्यूज़ एजेंसी एनआईए से बातचीत में चिराग ने कहा कि वह और उनकी पार्टी हमेशा भाजपा के साथ खड़ी रही है। जबकि नीतीश कुमार भाजपा के हर फैसले का विरोध करते रहे हैं। उन्होंने कहा कि मैंने शुरू से स्पष्ट किया कि मेरा गठबंधन BJP के साथ हुआ और मैं आज तक BJP के साथ खड़ा हूं। BJP के हर नीतिगत फैसले का मैंने समर्थन किया जबकि नीतीश जी ने इनके हर फैसले का विरोध किया। अब ये फैसला BJP को लेना है कि वो आने वाले समय में मेरा साथ देते हैं या नीतीश जी का।

चिराग में आगे कहा कि हम लोगों का पक्ष इतना मजबूत है कि मुझे इसमें कोई संदेह नहीं है कि पापा ने जो पार्टी अपने खून-पसीने से बनाई ​थी, उसका नाम और चिन्ह दोनों हमारे पास रहेंगे। इससे पहले चिराग पासवान ने अपनी सहयोगी पार्टी भाजपा के रवैये पर दुख जताया। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी को बचाने आना चाहिए था। बिहार चुनाव के दौरान खुद पीएम मोदी के 'हनुमान' के तौर पर पेश करने वाले चिराग ने कहा कि अगर हनुमान को मारा जा रहा हो और भगवान श्रीराम उन्हें बचाने के लिए न आएं तो ऐसे में हनुमान या फिर भगवान राम का क्या महत्व है। 

इसे भी पढ़ें: तेजस्वी का चिराग को ऑफर, लापता होने के आरोपों पर कहा - मैं नेता के साथ बेटा भी हूं

चिरान ने कहा था कि मुझे उम्मीद थी कि वे (भाजपा) मध्यस्थता करेंगे और चीजों को सुलझाने का प्रयास करेंगे। उनकी चुप्पी निश्चित रूप से आहत करती है। चिराग ने कहा कि मेरे परिवार के लोगों ने ही मेरी पार्टी को तोड़ने का काम किया है, फिलहाल मुझे अपनी पार्टी को शून्य से उस मुकाम पर लेकर जाना है जहां पापा पार्टी को हमेशा लेकर जाना चाहते थे। उन्होंने कहा कि मैंने हनुमान की तरह प्रधानमंत्री जी का हर मुश्किल दौर में साथ दिया, आज जब हनुमान का राजनीतिक वध करने का प्रयास किया जा रहा है, मैं ये विश्वास करता हूं कि ऐसे में राम खामोशी से नहीं देखेंगे। आपको बता दें कि हाल में ही लोजपा के 5 सांसदों ने चिराग के खिलाफ बगावत का बिगुल फूंक दी थी। इस बगावत का नेतृत्व चिराग पासवान के चाचा पशुपति पारस कर रहे थे।