नड्डा का कांग्रेस पर तंज, कहा- फौज का मनोबल गिराने का काम कर रहे हैं कुछ नेता

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जून 20, 2020   16:24
नड्डा का कांग्रेस पर तंज, कहा- फौज का मनोबल गिराने का काम कर रहे हैं कुछ नेता

बिना किसी पार्टी एवं नेता का नाम लिए नड्डा ने कहा आज देश भारत चीन सीमा पर गलवान में जब लड़ाई लड़ रहा है तो हमारे (कुछ) नेता हर दिन ट्वीट कर फौज का मनोबल गिरा रहे हैं और अपनी बुद्धि का प्रदर्शन कर रहे हैं।

जयपुर। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे पी नड्डा ने शनिवार को कहा कि कुछ नेता फौज का मनोबल गिराने का काम कर रहे हैं। इसके साथ ही उन्होंने केंद्र में मौजूदा विपक्ष को निरर्थक विपक्ष करार दिया। बिना किसी पार्टी एवं नेता का नाम लिए नड्डा ने कहा,‘‘आज देश भारत चीन सीमा पर गलवान में जब लड़ाई लड़ रहा है तो हमारे (कुछ) नेता हर दिन ट्वीट कर फौज का मनोबल गिरा रहे हैं और अपनी बुद्धि का प्रदर्शन कर रहे हैं। नड्डा ने कहा,‘‘ (वे) पूछते हैं बिना हथियार क्यों चले गए ... आपको मालूम नहीं कि नियम क्या होते हैं, अंतरराष्ट्रीय समझौते क्या होते हैं। और (यह कि सैनिक) बिना हथियार नहीं गए थे .... तो क्यूं अपनी बुद्धि का अपनी सीमित जानकारी का प्रदर्शन कर रहे हैं।’’

भाजपा अध्यक्ष ने कहा,‘‘ कोई जानकारी है नहीं और देश के फौजियों का मनोबल गिराने का काम आपने पकड़ा है।’’ नड्डा की ये टिप्पणियां कांग्रेस नेता राहुल गांधी के उन ट्वीटों की ओर इशारा कर करते हुए गयी गयी हैं जिनमें उन्होंने बिना हथियार सैनिक भेजने पर सवाल उठाया था। गलवान घाटी में बीस भारतीय सैनिकों के शहीद होने को लेकर राहुल गांधी ने मोदी सरकार से कई और सवाल भी किए थे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा सभी दलों के नेताओं के साथ हालिया वीडियो कान्फ्रेंस का जिक्र करते हुए नड्डा ने कहा कि कांग्रेस ऐसे समय में भी राजनीति कर रही है। उन्होंने कहा,‘‘सबने एक स्वर में प्रधानमंत्री के साथ खड़े होने का वादा किया लेकिन कांग्रेस पार्टी पूछ रही थी कि ये कैसे, वो कैसे, कहां हुआ, कैसे हुआ? उन्होंने कहा, ‘‘ इतने लंबे समय तक सरकार में रहने वाली पार्टी को क्या मालूम नहीं है कि सरकारें कब और कहां जवाब देती हैं।’’ 

इसे भी पढ़ें: नड्डा का कांग्रेस पर निशाना, कहा- राजस्थान को आजकल ग्रहण लगा है

नड्डा ने कहा,‘‘इस समय भी राजनीति करने वाला गैर जिम्मेदाराना विपक्ष है ...।’’ उन्होंनें कहा,‘‘ विपक्ष होना चाहिए.. हम विपक्ष में विश्वास करते हैं लेकिन हमें रचनात्मक विपक्ष में विश्वास है। सार्थक विपक्ष (अपोजिशन विद कंटेंट) ... उसमें ताकत होनी चाहिए उसकी बात में कुछ शक्ति होनी चाहिए ... यह निरर्थक (कंटेंटलैस) विपक्ष जिसके पास कोई दिशा नहीं है।’’ प्रधानमंत्री मोदी के लिए कुछ नेताओं द्वारा इस्तेमाल की जाने वाली पर भी नड्डा ने आपत्ति जताई। उन्होंने कहा कि हमारे परिवार के संस्कारों को परिलक्षित करती है और जिस तरह की का इस्तेमाल वे कर रहे हैं कम से कम भारतीय परिवारों के परिवेश इस तरह के संस्कार नहीं होते।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।