गुमला के कामडारा में भीषण मुठभेड़ में दस लाख का ईनामी समेत 3 नक्सली ढेर

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  फरवरी 25, 2019   08:31
गुमला के कामडारा में भीषण मुठभेड़ में दस लाख का ईनामी समेत 3 नक्सली ढेर

झारखंड पुलिस के प्रवक्ता अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक एमएल मीणा ने बताया कि पुलिस को सूचना मिली कि क्षेत्र में पीएलएफआई का मुखिया दिनेश गोप अपने साथियों के साथ बैठक कर रहा है जिसके बाद जब पुलिस ने इलाके की घेराबंदी की तब नक्सलियों ने गोलीबारी प्रारंभ कर दी।

रांची। झारखंड के गुमला जिले में कामडारा में रविवार तड़के एक भीषण मुठभेड़ में केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल और स्थानीय पुलिस ने पीपुल्स लिबरेशन फ्रंड आफ इंडिया (पीएलएफआई) के दस लाख रुपये के ईनामी एरिया कमांडर गुज्जू गोप समेत तीन कट्टर नक्सलियों को मार गिराया। झारखंड पुलिस के प्रवक्ता अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक एमएल मीणा ने बताया कि पुलिस को सूचना मिली कि क्षेत्र में पीएलएफआई का मुखिया दिनेश गोप अपने साथियों के साथ बैठक कर रहा है जिसके बाद जब पुलिस ने इलाके की घेराबंदी की तब नक्सलियों ने गोलीबारी प्रारंभ कर दी। इसके बाद हुई मुठभेड़ में सुरक्षा बलों ने तीन कट्टर नक्सलियों को मार गिराया जिनमें दो की पहचान एरिया कमांडर गुज्जू गोप और विकास के रूप में की गयी है।

इसे भी पढ़ें: छत्तीसगढ़ पुलिस की बड़ी सफलता, 11 लाख के ईनामी नक्सलियों ने किया आत्मसमर्पण

उन्होंने बताया कि अभी तीसरे नक्सली की पहचान नहीं हो सकी है। नक्सलियों के पास से दो एके 47 राइफलें, तीन पिस्तौल, एक 315 बोर की राइफल, नक्सली साहित्य एवं बड़ी मात्रा में गोलाबारूद एवं सवा लाख रुपये नकदी बरामद की है। गोप पर पुलिस अवर निरीक्षक विद्यापति सिंह सहित कई पुलिसकर्मियों की हत्या का भी आरोप है। मीणा ने बताया कि झारखण्ड पुलिस, केन्द्रीय अर्धसैनिक बलों के सहयोग से नक्सलियों को पूरी तरह से समाप्त करने के लिए दृढ़ संकल्प है। इस वर्ष पीएलएफआई के कुल 9 उग्रवादी एवं 2 माओवादी विभिन्न मुठभेड़ों में मारे जा चुके हैं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।