भारत में कोरोना वायरस के नए प्रकार का कोहराम, अबतक 25 लोग संक्रमित, सभी को एकांतवास में रखा गया

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  दिसंबर 31, 2020   14:14
भारत में कोरोना वायरस के नए प्रकार का कोहराम, अबतक 25 लोग संक्रमित, सभी को एकांतवास में रखा गया

सरकार के मुताबिक बृहस्पतिवार को नए वायरस से संक्रमित मिले पांच मरीजों में से चार में संक्रमण की पुष्टि राष्ट्रीय विषाणु विज्ञान संस्थान,पुणे में हुई जांच से हुई जबकि एक मरीज के संक्रमित होने का पता जिनोमिकी और समवेत जीव विज्ञान संस्थान में हुई जांच से चला।

नयी दिल्ली। ब्रिटेन में मिले कोरोना वायरस के नए प्रकार (स्ट्रेन) से अबतक देश में कुल 25 लोगों के संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। यह जानकारी केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बृहस्पतिवार को दी। मंत्रालय ने बताया कि इन 25 संक्रमितों में मंगलवार और बुधवार को वायरस के नए प्रकार से संक्रमित 20 मरीज भी शामिल हैं। मंत्रालय ने बताया, ‘‘इन सभी 25 मरीजों को चिकित्सालयों में एकांतवास में रखा गया है।’’ 

इसे भी पढ़ें: कोरोना वायरस: ओडिशा में 31 दिसंबर को लागू रहेगा नाइट कर्फ्यू, आवश्यक सेवाओं को दी जाएगी अनुमति 

सरकार के मुताबिक बृहस्पतिवार को नए वायरस से संक्रमित मिले पांच मरीजों में से चार में संक्रमण की पुष्टि राष्ट्रीय विषाणु विज्ञान संस्थान,पुणे में हुई जांच से हुई जबकि एक मरीज के संक्रमित होने का पता जिनोमिकी और समवेत जीव विज्ञान संस्थान (आईजीआईबी) में हुई जांच से चला। मंत्रालय ने बताया कि इसके बाद इन मरीजों के साथ आए यात्रियों एवं संपर्क में आए परिवार एवं अन्य सदस्यों का गहनता से पता लगाया जा रहा है। मंत्रालय ने मंगलवार को कहा, ‘‘स्थिति सतर्क निगरानी में है और राज्यों को निगरानी, रोकथाम, जांच एवं नमूनों को आईएनएसएससीओजी प्रयोगशाला भेजने के लिए नियमित रूप से परामर्श दिया जा रहा है। 

इसे भी पढ़ें: मोदी ने फिर चेताया, कहा- टीकाकरण के बाद करें दवाई भी-कड़ाई भी मंत्र का पालन 

उल्लेखनीय है कि ब्रिटेन में सबसे पहले मिले कोरोना वायरस के इस नए प्रकार की अब डेनमार्क, नीदरलैंड, ऑस्ट्रेलिया, इटली, स्वीडन, फ्रांस, स्पेन,स्विट्जरलैंड, जर्मनी, कनाडा, जापान, लेबनान और सिंगापुर में भी मौजूदगी की पुष्टि हो चुकी है। मंत्रालय ने बताया कि 25 नवंबर से 23 दिसंबर की मध्य रात्रि तक देश के विभिन्न हवाई अड्डों पर 33 हजार लोग ब्रिटेन से आए हैं। मंत्रालय ने बताया कि इन सभी यात्रियों की निगरानी की जा रही है और राज्य एवं केंद्र शासित प्रदेश आरटी-पीसीआर पद्धति से जांच करा रहे हैं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।