व्हाट्सऐप अकाउंट हैक कर लोगों को ठगने के आरोप में नाइजीरियाई नागरिक गिरफ्तार

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 21, 2021   07:51
व्हाट्सऐप अकाउंट हैक कर लोगों को ठगने के आरोप में नाइजीरियाई नागरिक गिरफ्तार

शिकायत के मुताबिकइसके बाद हैकर ने पीड़ित के परिजनों को उसके व्हाट्सऐप नंबर के जरिए संदेश भेजा और विभिन्न आधारों पर पैसे ट्रांसफर करने का अनुरोध किया। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि आरोपी ने पीड़िता के परिजनों को पैसे ट्रांसफर करने के लिए कई बैंकों के अकाउंट नंबर मुहैया कराए थे।

नयी दिल्ली| दिल्ली पुलिस ने शनिवार को कहा कि एक नाइजीरियाई नागरिक को बेंगलुरू से गिरफ्तार किया गया है जो कथित तौर पर लोगों के व्हाट्सऐप अकाउंट हैक कर उन्हें ठग रहा था।

उन्होंने बताया कि 16 नवंबर को कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु में एक एटीएम से 20,000 रुपये निकाल रहे आरोपी ओकुउदीरी पासचल (40) को गिरफ्तार किया गया। अपराध का खुलासा तब हुआ जब एक पीड़ित ने 2 नवंबर को तिलक मार्ग थाने में शिकायत दर्ज कराई।

इसे भी पढ़ें: कांग्रेस ने ‘किसान विजय दिवस’ मनाया, सभाओं और कैंडल मार्च का आयोजन किया

शिकायतकर्ता ने आरोप लगाया कि उसे व्हाट्सऐप पर एक संदेश मिला कि वर्चुअल प्लेटफॉर्म पर सुविधाओं को अपग्रेड किया जा रहा है जिसके लिए सिस्टम छह अंकों का कोड तैयार कर रहा है।

पुलिस ने कहा कि शिकायतकर्ता ने बताया कि उसने जैसे ही अपने मोबाइल फोन पर एक अज्ञात मोबाइल नंबर द्वारा प्रदान किया गया 6 अंकों का कोड टाइप किया तो उसकी व्हाट्सऐप स्क्रीन ने काम करना बंद कर दिया और खाता हैक हो गया।

शिकायत के मुताबिकइसके बाद हैकर ने पीड़ित के परिजनों को उसके व्हाट्सऐप नंबर के जरिए संदेश भेजा और विभिन्न आधारों पर पैसे ट्रांसफर करने का अनुरोध किया। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि आरोपी ने पीड़िता के परिजनों को पैसे ट्रांसफर करने के लिए कई बैंकों के अकाउंट नंबर मुहैया कराए थे।

पुलिस उपायुक्त (नयी दिल्ली) दीपक यादव ने कहा, हमने अपनी टीम को बेंगलुरु भेजा, जिसने आरोपी द्वारा प्रदान किए गए बैंक खाते के विवरण की जांच की और जांच के दौरान यह पता चला कि आरोपी व्यक्ति विभिन्न आधारों पर कई पीड़ितों को बहकाकर उन्हें बैंक खातों में पैसा ट्रांसफर करने के लिए प्रेरित कर रहे थे।

अधिकारी ने कहा कि आरोपी व्यक्ति पुलिस से बचने के लिए नियमित रूप से अपने बैंक खाते बदलते रहते थे।

पीड़ित ने जैसे ही बैंक में रकम ट्रांसफर की, बेंगलुरू के बनासवाड़ी के अलग-अलग एटीएम से पैसे निकाल लिए गए। जांच के दौरान पता चला कि आरोपी एक अंतरराष्ट्रीय साइबर धोखाधड़ी रैकेट का हिस्सा है और उसने पूरे भारत में सैकड़ों पीड़ितों को धोखा दिया है।

इसे भी पढ़ें: दिल्ली में अगले कुछ दिनों में तापमान में कमी आने की संभावना : मौसम विभाग

डीसीपी ने कहा कि आरोपी को ट्रांजिट रिमांड पर दिल्ली लाया गया है और आगे की जांच जारी है। पुलिस ने वारदात में इस्तेमाल कई एटीएम कार्ड, मोबाइल फोन और सिम कार्ड बरामद किए हैं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।