कांग्रेस ने ‘किसान विजय दिवस’ मनाया, सभाओं और कैंडल मार्च का आयोजन किया

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 21, 2021   07:16
कांग्रेस ने ‘किसान विजय दिवस’ मनाया, सभाओं और कैंडल मार्च का आयोजन किया
प्रतिरूप फोटो

कांग्रेस की उत्तर प्रदेश इकाई ने भी राज्य में ‘किसान विजय दिवस’ मनाया और तीन केंद्रीय कृषि कानूनों को निरस्त करने की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की घोषणा को किसानों के संघर्ष की जीत बताया।

नयी दिल्ली|  कांग्रेस ने तीन केंद्रीय कृषि कानूनों को निरस्त करने की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की घोषणा के बाद शनिवार को देश भर में ‘किसान विजय दिवस’ मनाया और रैलियों एवं कैंडल का मार्च का आयोजन किया।

प्रधानमंत्री मोदी ने शुक्रवार को राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में तीनों कृषि कानूनों को निरस्त करने के निर्णय की घोषणा करते हुए कहा कि संसद के आगामी सत्र में इसके लिए समुचित विधायी उपाय किए जाएंगे। इसके बाद कांग्रेस ने प्रदेश, जिला और ब्लॉक स्तर पर ‘किसान विजय दिवस’ मनाने की घोषणा की थी।

इसे भी पढ़ें: किसानों को ‘काले कानूनों’ के फायदे नहीं बता पाए प्रधानमंत्री: कांग्रेस

कांग्रेस के मुताबिक, उसकी राज्य, जिला और ब्लॉक इकाइयों ने जगह-जगह सभाएं कीं और शाम के समय उन किसानों के सम्मान में कैंडल मार्च निकाला, जिनकी किसान आंदोलन के दौरान मृत्यु हो गई। कांग्रेस की दिल्ली इकाई ने यहां जंतर-मंतर पर कैंडल मार्च निकाला, जिसकी अगुवाई प्रदेश अध्यक्ष चौधरी अनिल कुमार ने की

इस मौके पर कांग्रेस नेताओं एवं कार्यकर्ताओं ने कुछ पल मौन रखकर आंदोलन के दौरान जान गंवाने वाले किसानों को श्रद्धांजलि दी। पार्टी के संगठन महासचिव के सी वेणुगोपाल ने केरल के पालक्कड़ में ‘किसान विजय दिवस’ पर एक सभा को संबोधित किया।

कांग्रेस की उत्तर प्रदेश इकाई ने भी राज्य में ‘किसान विजय दिवस’ मनाया और तीन केंद्रीय कृषि कानूनों को निरस्त करने की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की घोषणा को किसानों के संघर्ष की जीत बताया।

इसे भी पढ़ें: ‘‘काले’’ कानूनों को निरस्त करना सही दिशा में उठाया गया कदम, एमएसपी बड़ा मुद्दा : सिद्धू

विपक्षी दल ने इस मौके पर केंद्रीय कृषि कानूनों के खिलाफ साल भर से चल रहे प्रदर्शनों के दौरान जान गंवाने वाले किसानों को श्रद्धांजलि भी दी। पार्टी की अन्य राज्य, जिला और ब्लॉक इकाइयों ने भी सभाओं और कैंडल मार्च का आयोजन किया।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...