नोयडा मेट्रो की शानदार पहल, ट्रांसजेंडरों के लिए अलग टॉयलेट का प्रावधान

नोयडा मेट्रो की शानदार पहल, ट्रांसजेंडरों के लिए अलग टॉयलेट का प्रावधान

मेट्रो स्टेशनों पर ट्रांसजेंडरों के खिलाफ लैंगिक भेदभाव को रोकने के लिए डीएमआरसी की ओर से पहले ही मेट्रो स्टेशनों पर दिव्यांग यात्रियों के लिए बनाए गए टॉयलेट्स का इस्तेमाल करने की ट्रांसजेंडर यात्रियों को भी अनुमति है।

दिल्ली मेटो रेल कॉर्पोरशन अपनी शानदार सेवाओं के लिए हमेशा ही चर्चा में रहता है, आपकी यात्रा को सुगम और सुलभ बनाने के उद्देश्य से दिल्ली मेटो रेल कॉर्पोरशन ने इस साल अगस्त में ट्रांसजेंडर के लिए अलग टॉयलेट्स के निर्माण का फैसला लिया था। अब डीएमआरसी का अनुसरण करते हुए नोयडा मेट्रो रेल कॉर्पोरशन ने भी ट्रांसजेंडर की सुविधा के लिए नोएडा से ग्रेटर नोएडा की एक्वा लाइन पर विशेष टॉयलेट बनाने की घोषणा की है। 

नोएडा से ग्रेटर नोएडा को जोड़ने वाली एक्वा लाइन पर 21 स्टेशन हैं। आपको बता दें हर स्टेशन पर दिव्यांगों के लिए भी स्पेशल टॉयलेट भी बनाए गए है। दिव्यांगों के लिए बनाए गए इन खास शौचालयों का उपयोग अब ट्रांसजेंडर भी कर सकेंगे. इन शौचालयों के बाहर ट्रांसजेंडर साइन बोर्ड लगा दिए गए हैं।

मेट्रो स्टेशन पर काम कर रहे ट्रांसजेंडर को भी मिलेगी विशेष सेवा

एनएमआरसी की एमडी और नोएडा प्राधिकरण की सीईओ रितु महेश्वरी ने बताया कि मेट्रो लाइन पर नौकरी कर रहे ट्रांसजेंडर और मेट्रो ट्रेन में सफर कर रहे बहुत से ट्रांसजेंडर अब इन विशेष टॉयलेट्स का प्रयोग कर सकेंगे। आपको बता दें कि एनएमआरसी में बहोत से ट्रांसजेंडर टिकट काउंटर आदी पर अपनी सेवाएं दे रहे हैं।

डीएमआरसी पहले ही दे रहा है ट्रांसजेंडरों के लिए अलग टॉयलेट  की सुविधा

मेट्रो स्टेशनों पर ट्रांसजेंडरों के खिलाफ लैंगिक भेदभाव को रोकने के लिए डीएमआरसी की ओर से पहले ही  मेट्रो स्टेशनों पर दिव्यांग यात्रियों के लिए बनाए गए  टॉयलेट्स का इस्तेमाल करने की ट्रांसजेंडर यात्रियों को भी अनुमति है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।