ड्रग्स मामले में भाजयुमो नेता पामेला को राहत नहीं, सहयोगियों पर लगाया साजिश रचने का आरोप

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  फरवरी 20, 2021   20:37
ड्रग्स मामले में भाजयुमो नेता पामेला को राहत नहीं, सहयोगियों पर लगाया साजिश रचने का आरोप

पामेला को उनके एक मित्र प्रदीप कुमार डे और उनके (पामेला के) निजी सुरक्षा गार्ड के साथ शुक्रवार को कोलकाता के न्यू अलीपुर इलाके से गिरफ्तार किया गया था। पुलिस के मुताबिक पामेला के थैले और कार में लाखों रुपये मूल्य के 90 ग्राम कोकीन कथित तौर पर पाये जाने के बाद उन्हें गिरफ्तार किया गया।

कोलकाता। ड्रग्स मामले में गिरफ्तार भाजपा की युवा शाखा की नेता पामेला गोस्वामी ने शनिवार को पार्टी के सहयोगी राकेश सिंह पर इसकी साजिश रचने का आरोप लगाया। उन्होंने मामले की जांच सीआईडी से कराने की भी मांग की। पामेला को NDPS कोर्ट ने 25 फरवरी तक पुलिस रिमांड में भेज दिया है। भारतीय जनता युवा मोर्चा (भाजयुमो) की प्रदेश सचिव पामेला ने सिंह को गिरफ्तार करने की भी मांग की। गौरतलब है कि पामेला को उनके एक मित्र प्रदीप कुमार डे और उनके (पामेला के) निजी सुरक्षा गार्ड के साथ शुक्रवार को कोलकाता के न्यू अलीपुर इलाके से गिरफ्तार किया गया था। पुलिस के मुताबिक पामेला के थैले और कार में लाखों रुपये मूल्य के 90 ग्राम कोकीन कथित तौर पर पाये जाने के बाद उन्हें गिरफ्तार किया गया।

पामेला ने शहर की अदालत से लॉक-अप में ले जाए जाने के दौरान संवाददाताओं से कहा, ‘‘मैं सीआईडी जांच चाहती हूं। भाजपा के राकेश सिंह, जो कैलाश विजयवर्गीय के सहयोगी हैं, को गिरफ्तार किया जाना चाहिए। यह (मेरे खिलाफ) एक साजिश है।’’ वहीं, भाजपा की प्रदेश कमेटी के सदस्य सिंह ने आरोप लगाया कि सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस और कोलकाता पुलिस उनके खिलाफ साजिश रच रही है तथा पामेला को सिखा-पढ़ा दिया है। उन्होंने कहा कि वह एक साल से अधिक समय से पामेला के संपर्क में नहीं थे और किसी भी जांच का सामना करने के लिए तैयार हैं। 

इसे भी पढ़ें: कोलकाता में भाजपा युवा मोर्चा की नेता गिरफ्तार, कोकीन बरामद: पुलिस

उन्होंने कहा, ‘‘यदि मैं संलिप्त हूं तो वे मुझे या कैलाश विजयवर्गीय या अमित शाह को बुला सकते हैं। मुझे लगता है कि पुलिस ने उसे सिखाया-पढ़ाया है। ’’ इस बीच, तृणमूल कांग्रेस ने कहा है कि पूरा प्रकरण भाजपा के असली चेहरे को दर्शाता है। पार्टी महासचिव एवं राज्य में मंत्री पार्थ चटर्जी ने कहा, ‘‘इससे पहले, उनकी (भाजपा की) एक नेता बच्चों की तस्करी के मामले में गिरफ्तार हुई थीं। अब एक अन्य नेता ड्रग्स मामले में गिरफ्तार हुई हैं। इससे सिर्फ यही साबित होता है कि भाजपा और उसके नेताओं का असली चेहरा क्या है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।