केंद्र की ओर से दी गई अनुमति से ज्यादा दिल्ली में नहीं दी जाएगी राहत: अरविंद केजरीवाल

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 26, 2020   13:28
केंद्र की ओर से दी गई अनुमति से ज्यादा दिल्ली में नहीं दी जाएगी राहत: अरविंद केजरीवाल

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि हम मुश्किल वक्त से गुजर रहे हैं। हमें दिल्ली में कोविड-19 के मामलों की संख्या को कम करने के लिए अपने प्रयास जारी रखने होंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना वायरस किसी भी धर्म में भेद नहीं करता है।

नयी दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रविवार को कहा कि उनकी सरकार लॉकडाउन में केंद्रीय गृह मंत्रालय द्वारा दी गई अनुमति से ज्यादा ढील नहीं देगी। केजरीवाल ने राष्ट्रीय राजधानी में कोरोना वायरस के मामलों को कम करने पर जोर दिया। ऑनलाइन मीडिया ब्रीफिंग को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि उनकी सरकार तीन मई तक लॉकडाउन के दौरान आस पड़ोस की दुकानों को खोलने पर केंद्र के दिशा-निर्देशों को लागू कर रही है। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय राजधानी में किसी भी बाजार या मॉल को खोलने की इजाजत नहीं दी जाएगी औरकोविड-19 निषिद्ध जोन में सभी दुकानें बंद रहेंगी। उन्होंने कहा कि सरकार यथा स्थिति बनाए रखेगी और तीन मई तक लॉकडाउन की पाबंदियों में ढील नहीं देगी, सिवाय उनके जिनकी अनुमति केंद्रीय गृह मंत्रालय ने दी है। 

इसे भी पढ़ें: दिल्ली में खुलेंगी दुकानें, गृह मंत्रालय के आदेश को लागू करेगी केजरीवाल सरकार 

केजरीवाल ने कहा कि हम मुश्किल वक्त से गुजर रहे हैं। हमें दिल्ली में कोविड-19 के मामलों की संख्या को कम करने के लिए अपने प्रयास जारी रखने होंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना वायरस किसी भी धर्म में भेद नहीं करता है। उन्होंने कहा कि हमें साथ मिलकर काम करने की जरूरत है। मुस्लिम के प्लाज़मा का इस्तेमाल हिन्दू मरीज के इलाज के लिए किया जा सकता है और हिंदू के प्लाज़मा का उपयोग मुस्लिम के उपचार के लिए किया जा सकता है। दिल्ली सरकार के मुताबिक, राष्ट्रीय राजधानी में शनिवार को 111 नए मामले सामने आने के बाद कोरोना वायरस के 2625 मामले हो गए। इस वायरस ने 54 लोगों की जान ले ली है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...