चिराग पासवान के साजिश वाले आरोप पर अब जेडीयू ने किया पलटवार, जानें क्या कहा

 Chirag Paswan
बंगला खाली करने के बाद चिराग पासवान ने कहा कि जिस दिन उन्हें बाहर निकाला गया, उस से एक दिन पहले उन्हें शीर्ष केंद्रीय मंत्री ने आश्वासन दिया था कि उन्हें बंगला नहीं छोड़ना पड़ेगा। उन्होंने कहा इसके पीछे नीतीश कुमार का हाथ हो सकता है।
 हाल ही में केंद्र सरकार ने चिराग पासवान से उनके पिता स्वर्गीय रामविलास पासवान को राष्ट्रीय राजधानी में आवंटित 12 जनपद बंगला खाली कराया है। बंगला खाली कराने के बाद अब बिहार में सियासत तेज हो गई है। चिराग पासवान ने नीरज कुमार पर आरोप लगाते हुए कहा है कि नीतीश कुमार ने ही उनका दिल्ली वाला बंगला खाली कराने की साजिश की है। अब जेडीयू ने चिराग पासवान के आरोप पर पलटवार किया है।

जेडीयू के राष्ट्रीय प्रवक्ता अजय आलोक ने कहा, नीतीश कुमार बंगले की राजनीति नहीं करते हैं। नीतीश कुमार जब मुख्यमंत्री बने थे तो लालू यादव और राबड़ी देवी मुख्यमंत्री आवास में 7 महीने तक रहे थे। तभी नीतीश कुमार ने उनसे बंगला खाली करने के लिए नहीं कहा था। उन्होंने कहा, केंद्र सरकार ने चिराग पासवान का दिल्ली वाला बंगला खाली कराया है, जेडीयू की इसमें कोई भूमिका नहीं है।

अजय आलोक ने कहा, चिराग पासवान ऐसा जनता की सहानुभूति पाने के लिए कर रहे हैं। वो जनता की सहानुभूति पानी के लिए अनापशनाप न बोलें। चिराग पासवान को रामविलास पासवान को मिला बंगला उनके निधन के 6 महीने के अंदर खाली करना था। लेकिन उन्होंने ऐसा नहीं किया। ऐसे में केंद्र सरकार ने अब जबरदस्ती बंगला खाली कराया।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि, बंगला खाली करने के बाद चिराग पासवान ने कहा कि जिस दिन उन्हें बाहर निकाला गया, उस से 1 दिन पहले उन्हें शीर्ष केंद्रीय मंत्री ने आश्वासन दिया था कि उन्हें नहीं छोड़ना पड़ेगा। उन्होंने कहा इसके पीछे नीतीश कुमार का हाथ हो सकता है। मेरे चाचा पशुपति पारस केंद्र सरकार में मंत्री हैं। मेरे पिताजी के निधन के बाद उनके स्थान पर उन्हें मंत्री बनाया गया। वह भी इस साजिश का हिस्सा हैं। हम लोगों को जब बंगले से जबरन बाहर निकाला जा रहा था तब रामविलास पासवान जी की तस्वीर को भी बाहर फेंका जा रहा था तो चाचा(पशुपति पारस) ने चुप्पी साध रखी थी।

अन्य न्यूज़