पूरे देश में लागू करेंगे NRC, किसी भी धर्म के लोगों को डरने की जरूरत नहीं: अमित शाह

पूरे देश में लागू करेंगे NRC, किसी भी धर्म के लोगों को डरने की जरूरत नहीं: अमित शाह

राज्यसभा में गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि एनआरसी के आधार पर नागरिकता की पहचान सुनिश्चित की जाएगी और इसे पूरे देश में लागू किया जाएगा।

नयी दिल्ली। राज्यसभा में गृह मंत्री अमित शाह ने बुधवार को राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) मुद्दे पर विपक्ष को जवाब दिया। उन्होंने कहा कि एनआरसी में धर्म के आधार पर लोगों को बाहर करने का कोई प्रावधान नहीं है। सिटिजनशिप अमेंडमेंट बिल अलग है। 

इसे भी पढ़ें: J&K में कहीं भी नहीं है धारा 144, शाह बोले- पुलिस फायरिंग में नहीं गई एक भी जान

उन्होंने कहा कि एनआरसी के आधार पर नागरिकता की पहचान सुनिश्चित की जाएगी और इसे पूरे देश में लागू किया जाएगा। अमित शाह ने साफ शब्दों में कहा कि भारत के सभी नागरिक चाहे वे किसी भी धर्म के हों, NRC सूची में शामिल होंगे। एनआरसी एक अलग प्रकिया है और नागरिकता संशोधन विधेयक अलग है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।