उत्तर प्रदेश पुलिस भर्ती की ऑनलाइन परीक्षा में फर्जीवाडे को लेकर तीन गिरफ्तार

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 23, 2021   08:40
उत्तर प्रदेश पुलिस भर्ती की ऑनलाइन परीक्षा में फर्जीवाडे को लेकर तीन गिरफ्तार
प्रतिरूप फोटो

पश्चिमी यूपी एसटीएफ (नोएडा यूनिट) के एसपी कुलदीप नारायण ने बताया कि एसटीएफ को काफी दिनों से सूचना मिल रही थी कि उत्तर प्रदेश पुलिस भर्ती एवं प्रोन्नति बोर्ड द्वारा आयोजित की जा रही उप- निरीक्षक की परीक्षा में कुछ लोग धोखाधड़ी कर साल्वर गैंग की सहायता से परीक्षा में नकल करवा रहे हैं।

नोएडा (उप्र)| उत्तर प्रदेश पुलिस भर्ती एवं प्रोन्नति बोर्ड द्वारा आयोजित उपनिरीक्षक नागरिक पुलिस एवं समकक्ष पदों की सीधी भर्ती ऑनलाइन परीक्षा 2021 में फर्जीवाड़ा करने वाले गिरोह के तीन लोगों को विशेष कार्यबल (एसटीएफ) ने गिरफ्तार किया।

 उनके पास से दो प्रवेशपत्रों की छाया प्रति, आधार कार्ड, उपस्थिति पत्रिका, एक आई-10 कार तथा छह हजार रुपयेनगद बरामद किया है।

इसे भी पढ़ें: नोएडा में प्रस्तावित फिल्म सिटी के बोली दस्तावेज के अनुरोध प्रस्ताव को मंजूरी

पश्चिमी यूपी एसटीएफ (नोएडा यूनिट) के एसपी कुलदीप नारायण ने बताया कि एसटीएफ को काफी दिनों से सूचना मिल रही थी कि उत्तर प्रदेश पुलिस भर्ती एवं प्रोन्नति बोर्ड द्वारा आयोजित की जा रही उप- निरीक्षक की परीक्षा में कुछ लोग धोखाधड़ी कर साल्वर गैंग की सहायता से परीक्षा में नकल करवा रहे हैं।

उन्होंने बताया कि एसटीएफ की टीम को पता चला कि जनपद आगरा के आरबीएस इंस्टीट्यूट में आयोजित होने वाली उपनिरीक्षक नागरिक पुलिस की भर्ती परीक्षा में वास्तविक अभ्यर्थी हरेंद्र सिंह के स्थान पर किसी दूसरे लड़के को बैठा कर परीक्षा दिलवाया जा रहा है।

उन्होंने बताया कि सूचना के आधार पर एसटीएफ ने वहां पर छापा मारा तथा बंटी कुमार (एजेन्ट) , हरेंद्र सिंह (अभ्यर्थी)तथा अविनाश कुमार (साल्वर) को गिरफ्तार किया है।

उन्होंने बताया कि पूछताछ के दौरान एसटीएफ को पता चला कि ये लोग दो से पांच लाख रुपएलेकर असली अभ्यर्थियों की जगह साल्वर को बैठाकर परीक्षा दिलवाते थे।

इसे भी पढ़ें: पिछली सरकारों के पास गरीबों के कल्याण की सोच नहीं थी: आदित्यनाथ

उन्होंने बताया कि आज बंटी के कहने पर अविनाश कुमार वास्तविक अभ्यर्थी हरेंद्र के स्थान पर साल्वर के रूप में परीक्षा में बैठा था।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।