पुलवामा हमले के बाद पाक अलग थलग पड़ा: वी के सिंह

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  फरवरी 18, 2019   17:16
पुलवामा हमले के बाद पाक अलग थलग पड़ा: वी के सिंह

उन्होंने कहा कि अनुच्छेद 370 को हटाने के लिए सभी राजनीतिक दलों के समर्थन की आवशयकता है। इससे पहले सिंह ने भाजपा के ‘‘भारत के मन की बात, मोदी के साथ’’ अभियान की हिमाचल प्रदेश में शुरूआत की।

शिमला। विदेश राज्य मंत्री जनरल वी के सिंह ने सोमवार को कहा कि पुलवामा आतंकी हमले के बाद से पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय रूप से अलग थलग पड़ गया है। उन्होंने यहां संवाददाताओं से कहा कि 40 से अधिक देशों ने पाकिस्तान के खिलाफ कड़े बयान जारी किए हैं। उन्होंने कहा कि यह हमारी विदेश और कूटनीतिक नीति की बड़ी सफलता है क्योंकि मुंबई में हुये 26/11 हमले के बाद भारत को समर्थन देने वाले देशों की संख्याकी तुलना में अभी समर्थन करने वाले देशों की संख्या अधिक है। सिंह ने कहा,‘‘ भारत सीआरपीएफ के काफिले पर हाल ही में हुए आतंकी हमले का जवाब देने के लिए समय और जगह का चयन करेगा क्योंकि इसे पूरी तरह योजनाबद्ध और सोचा समझा होना चाहिये। 

उन्होंने कहा कि सुरक्षा बल किस तरह की योजना बना रहे हैं वह उनके संज्ञान में तो नहीं है पर सफलता पाने के लिए ‘‘कोई युद्ध, युद्ध जैसी या दंडात्मक कार्रवाई’’ की योजना निश्चित ही होनी चाहिये। यह पूरी तरह ठंडे दिमाग से बने और साथ ही जल्दबाजी से बचना होगा। सिंह ने कहा, ‘‘यहां तक कि ओसामा बिन लादेन को भी एक दिन में ही नहीं मार दिया गया जबकि अमेरिका जानता था कि वह पाकिस्तान में छिपा है। हमें भी ‘देखो और इंतजार करो’ पर अमल करना होगा और सुरक्षा बलों को समर्थन देना होगा। इस हमले को लेकर खुफिया एजेंसियों की विफलता के आरोप और कुछ लोगों की अंदरूनी मिलीभगत पर पूछे गए सवाल पर उन्होंने कहा कि पूरे मामले का विश्लेषण किया जा रहा है और उसके बाद ही कुछ कहा जा सकेगा।

यह भी पढ़ें: ICJ में कुलभूषण जाधव मामले की सुनवाई, हरीश साल्वे ने रखा भारत का पक्ष

उन्होंने कहा कि अनुच्छेद 370 को हटाने के लिए सभी राजनीतिक दलों के समर्थन की आवशयकता है।  इससे पहले सिंह ने भाजपा के ‘‘भारत के मन की बात, मोदी के साथ’’ अभियान की हिमाचल प्रदेश में शुरूआत की। अभियान के तहत पार्टी राज्य की सभी 68 विधानसभा सीटों पर लोगों की अपेक्षाएं व सुझाव जानेगी। भाजपा के एक नेता ने बताया कि इनमें से कुछ सुझावों को पार्टी के घोषणापत्र में शामिल किया जाएगा।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।