अफस्पा के साये में शांति वार्ता संभव नहीं, अमित शाह का बयान ‘गैर जिम्मेदाराना’ : NSCN (IM)

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  दिसंबर 9, 2021   09:35
अफस्पा के साये में शांति वार्ता संभव नहीं, अमित शाह का बयान ‘गैर जिम्मेदाराना’ : NSCN (IM)

नेशनल सोशलिस्ट काउंसिल ऑफ नगालैंड (इसाक-मुइवा) ने बुधवार को कहा कि अफ्सपा के साये में कोई शांति वार्ता संभव नहीं है और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के संसद में आतंकवाद रोधी अभियान पर दिए गए बयान को ‘‘गैर जिम्मेदाराना’’ करार दिया।

दीमापुर। नेशनल सोशलिस्ट काउंसिल ऑफ नगालैंड (इसाक-मुइवा) ने बुधवार को कहा कि अफ्सपा के साये में कोई शांति वार्ता संभव नहीं है और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के संसद में आतंकवाद रोधी अभियान पर दिए गए बयान को ‘‘गैर जिम्मेदाराना’’ करार दिया। इससे पहले ओटिंग के ग्रामीणों ने दावा किया था कि सेना ने उनकी पहचान का पता लगाए बिना ग्रामीणों को मारने के लिए गोली मार दी थी और उन्हें उग्रवादियों के रूप में पेश करने का प्रयास किया।

इसे भी पढ़ें: दक्षिण चीन सागर पर दावा जताने वाले देश चीनी हैकर्स के निशाने पर रहे : रिपोर्ट

एनएससीएन (आईएम) ने यहां एक बयान में कहा कि सशस्त्र बल विशेष अधिकार कानून (अफ्सपा) के साये में कोई भी राजनीतिक वार्ता सार्थक नहीं होगी। केंद्र के साथ नगा राजनीतिक वार्ता में प्रमुख वार्ताकार एनएससीएन (आईएम) ने चार दिसंबर को मोन जिले के ओटिंग गांव में गोलीबारी में कम से कम 13 कोयला खदान मजदूरों की मौत पर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह द्वारा संसद में दिये बयान की भी निंदा की।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...