कोविड-19 टीकाकरण पर झूठ और अफवाह को सही सूचना के जरिए शिकस्त देना होगा: PM मोदी

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 24, 2021   19:22
कोविड-19 टीकाकरण पर झूठ और अफवाह को सही सूचना के जरिए शिकस्त देना होगा: PM मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, ‘‘चाहे यह आरोग्य सेतु ऐप या फिर कोरोना वायरस संक्रमण के प्रसार के बारे में जागरूकता फैलाना हो, आपके द्वारा किया गया कार्य सराहनीय रहा है।’’ प्रधानमंत्री ने कहा कि युवाओं को लोगों को सही सूचना मुहैया कर कोविड-19 टीकाकरण कार्यक्रम में सहायता करने के लिए अब आगे आना चाहिए।

नयी दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को कहा कि भारतीय वैज्ञानिकों ने कोविड-19 का टीका विकसित कर अपना कर्तव्य पूरा किया और ‘‘अब हमें’’ झूठ तथा अफवाह फैलाने वाले हर नेटवर्क को सही सूचना के जरिए परास्त कर अपना कर्तव्य पूरा करना है। गणतंत्र दिवस परेड में भाग लेने जा रहे एनसीसी कैडेट, एनएसएस स्वयंसेवी और कलाकारों को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि इस तरह के संगठनों ने हमेशा ही चुनौतीपूर्ण समय से निपटने में अपनी भूमिका निभाई है। उन्होंने कहा, ‘‘कोविड के समय में भी, आपके द्वारा किया गया कार्य सराहनीय है। जब सरकार और प्रशासन को आपकी जरूरत होती है, तब आप स्वयंसेवी के रूप में आगे आते हैं और सहायता करते हैं। ’’ 

इसे भी पढ़ें: ट्रैक्टर रैली में कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन दर्शाएंगी झांकियां, 2500 स्वयंसेवकों को किया गया तैनात 

मोदी ने कहा, ‘‘चाहे यह आरोग्य सेतु ऐप या फिर कोरोना वायरस संक्रमण के प्रसार के बारे में जागरूकता फैलाना हो, आपके द्वारा किया गया कार्य सराहनीय रहा है।’’ प्रधानमंत्री ने कहा कि युवाओं को लोगों को सही सूचना मुहैया कर कोविड-19 टीकाकरण कार्यक्रम में सहायता करने के लिए अब आगे आना चाहिए। उन्होंने कहा, ‘‘आपको इसे अब अगले मुकाम तक ले जाना है। आपकी पहुंच समाज के सभी हिस्सों में है। कोविड-19 टीकाकरण कार्यक्रम के साथ देश की सहायता करने के लिए आगे आने का मैं आपसे अनुरोध करता हूं। आपको टीकों के बारे में गरीबों और आम आदमी को सही सूचना मुहैया करनी होगी। ’’

उन्होंने कहा, ‘‘भारतीय वैज्ञानिकों ने कोरोना वायरस का टीका विकसित कर अपना कर्तव्य पूरा किया और अब हमें अपना कर्तव्य पूरा करना है। झूठ और अफवाह फैला रहे हर नेटवर्क को हमें सही सूचना के जरिए परास्त करना होगा।’’ उन्होंने यह भी कहा कि भारत महज कुछ लोगों के ऐसा कहने भर से आत्मनिर्भर नहीं बन जाएगा, बल्कि इसे युवाओं के कार्यो द्वारा हासिल करना होगा, जिसके लिए उन्हें आवश्यक कौशल से लैस होना पड़ेगा। 

इसे भी पढ़ें: राष्ट्रीय बालिका दिवस के मौके पर केंद्रीय मंत्रियों समेत प्रमुख हस्तियों ने अपनी बेटियों के साथ साझा कीं तस्वीरें 

उन्होंने कहा, ‘‘आप यह कार्य तभी बेहतर तरीके से कर पाएंगे जब आपके पास आवश्यक कौशल होगा। ’’ मोदी ने कहा कि इसके महत्व को समझते हुए कौशल विकास मंत्रालय बनाया गया और अब तक 5.5 करोड़ से अधिक युवाओं ने विभिन्न कौशल का प्रशिक्षण प्राप्त किया है। उन्होंने कहा कि कौशल विकास प्रशिक्षण का उद्देश्य भारत के युवाओं को उनके कौशल के आधार पर रोजगार के नये अवसर दिलाना है। उन्होंने ‘वोकल फॉर लोकल’ पर एक बार फिर से जोर देते हुए कहा कि यह एक भारत श्रेष्ठ भारत की भावना से और मजबूत होगा।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।