ग्वालियर में अगले साल से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच संभव : सिंधिया

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मार्च 28, 2022   07:25
ग्वालियर में अगले साल से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच संभव : सिंधिया

उन्होंने कहा कि संभवत: अगले वर्ष से इस स्टेडियम में ग्वालियर-चंबल क्षेत्र के क्रिकेट प्रेमियों को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच का लुत्फ उठाने का मौका मिलेगा। सिंधिया ने यहां ग्वालियर डिवीजन एवं चंबल डिवीजन क्रिकेट एसोसिएशनस की वार्षिक आम बैठक (एजीएम) को संबोधित करते हुए यह बात कही।

ग्वालियर (मध्य प्रदेश|  केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने रविवार को कहा कि ग्वालियर में निर्माणाधीन अत्याधुनिक स्टेडियम अगले 10 से 11 माह के भीतर तैयार हो जाएगा।

उन्होंने कहा कि संभवत: अगले वर्ष से इस स्टेडियम में ग्वालियर-चंबल क्षेत्र के क्रिकेट प्रेमियों को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच का लुत्फ उठाने का मौका मिलेगा। सिंधिया ने यहां ग्वालियर डिवीजन एवं चंबल डिवीजन क्रिकेट एसोसिएशनस की वार्षिक आम बैठक (एजीएम) को संबोधित करते हुए यह बात कही।

इस बैठक में सिंधिया को सर्वसम्मति से चंबल डिवीजन क्रिकेट एसोसिएशन का अध्यक्ष चुना गया है। उन्होंने कहा कि क्रिकेट एसोसिएशन क्षेत्र की क्रिकेट प्रतिभाओं को निखारने के लिए प्रभावी ढंग से क्रिकेट कैंप आयोजित करें।

सिंधिया के मुताबिक, “जड़ मजबूत होने पर ही अंतरराष्ट्रीय स्तर का क्रिकेट कौशल हासिल किया जा सकता है। खुशी की बात है कि मध्य प्रदेश क्रिकेट एसोसिएशन ने पिछले दो साल में नए कीर्तिमान स्थापित किए हैं।”

उन्होंने कहा कि वेंकटेश अय्यर व आवेश खान अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ियों की फेहरिस्त में शामिल हो गए हैं और वर्तमान में आईपीएल में खेल रहे हैं।

सिंधिया ने कहा, “कोविड-19 महामारी की वजह से खेल गतिविधियां भी कठिन दौर से गुजरी हैं। अब खिलाड़ी एक बार फिर स्वतंत्र माहौल में अपना उत्कृष्ट प्रदर्शन देने के लिए उत्सुक हैं। क्रिकेट संघ खिलाड़ियों को हर संभव मदद देगा।”

उन्होंने सदस्यों को भरोसा दिलाया कि चयन प्रक्रिया को पारदर्शी बनाया जाएगा और श्रेष्ठ खिलाड़ी ही टीम में शामिल किए जाएंगे।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।