कमलनाथ और नकुलनाथ के लापता होने के छिंदवाड़ा में लगे पोस्टर, रखा गया 21 हजार नगद ईनाम

Kamal Nath and Nakul Nath
दिनेश शुक्ल । May 19, 2020 1:42PM
सिंधिया समर्थक कांग्रेस के पूर्व प्रवक्ता और अब भाजपा नेता पंकज चतुर्वेदी ने ट्वीट कर लिखा है कि कमलनाथ जी और नकुलनाथ लोगों को कोरोना में ज्ञान तो बहुत बांट रहे है पर धरातल पर खुद कितना काम कर रहे है। इसका उत्तर दें समस्या यह है कि कमलनाथ जी कांग्रेस में मची अंदरूनी लड़ाई से लड़ने में व्यस्त है।

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और छिदवाड़ा से विधायक कमलनाथ और उनके सांसद पुत्र नकुलनाथ के पोस्टर लगाकर उनकी तलाश की जा रही है। छिंदवाड़ा शहर में लगाए गए इन पोस्टरों पर लिखा है गुमशुदा की तलाश और बढ़े अक्षरों में लिखा है लापता कमलनाथ और नकुलनाथ की फोटो के नीचे लिखा हुआ है छिंदवाड़ा के लापता विधायक एवं सांसद को इस संकट काल में छिंदवाड़ा की जनता ढूढ़ रही है। जो इन्हें छिंदवाड़ा लेकर आएगा उसे 21000 रूपए का नगद ईनाम दिया जाएगा। इस पोस्टर में सबसे नीचे एक चौकोर खाने में लिखा है चिट्ठी न कोई संदेश न जाने कौन सा देश जहाँ तुम चले गए। 

इसे भी पढ़ें: इंदिरा गृह ज्योति योजना और बिजली कटौती के मुद्दे पर MP का उपचुनाव लड़ेगी कांग्रेस

मध्य प्रदेश में सत्ता परिवर्तन के बाद से पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ अपनी ऑनलाइन प्रेसवार्ता और राज्य सरकार को लिखी जा रही चिट्ठीयों को लेकर सुर्खियों में बने हुए है। कमलनाथ वर्तमान में प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष भी है। उन्होनें पिछले दिनों प्रदेश से कांग्रेस की सत्ता जाने के लिए पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह को इसका जिम्मेदार बताया था जिसके बाद वह एक बार फिर सुर्खियों में आ गए थे लेकिन बाद में उन्होनें अपनी इस बात का खंडन किया कि उन्होनें दिग्विजय सिंह को लेकर ऐसा नहीं कहा था। लेकिन उनके विधानसभा क्षेत्र और उनके पुत्र के लोकसभा क्षेत्र छिंदवाड़ा में लगे इन पोस्टरों के बाद वह एक बार फिर सुर्खियों में है। 

इसे भी पढ़ें: कमलनाथ सरकार ने डेढ़ साल तक खजाने का रोना रोया, हमने डेढ महीने में गरीब, किसान, मजदूर को 16 हजार करोड़ दे दिए : शिवराज सिंह चौहान

सोशल मीडिया पर पोस्टर वायरल होने के बाद भाजपा कार्यकर्ताओं समेत कांग्रेस के बागी सिंधिया समर्थक भी सक्रिय हो गए है। सिंधिया समर्थक कांग्रेस के पूर्व प्रवक्ता और अब भाजपा नेता पंकज चतुर्वेदी ने ट्वीट कर लिखा है कि कमलनाथ जी और नकुलनाथ लोगों को कोरोना में ज्ञान तो बहुत बांट रहे है पर धरातल पर खुद कितना काम कर रहे है। इसका उत्तर दें समस्या यह है कि कमलनाथ जी कांग्रेस में मची अंदरूनी लड़ाई से लड़ने में व्यस्त है। इसलिए छिंदवाड़ा की चिंता नहीं है। वैसे भी अभी चुनाव हुए बहुत समय है जब चुनाव आएगा तो छिंदवाड़ा पहुँच जाएगें।

इसे भी पढ़ें: मंत्री डॉ.नरोत्तम मिश्रा ने कहा इंदौर का जो हाल है वो जमातीयों और कमलनाथ सरकार के कारण

जबकि दूसरी तरफ प्रदेश अध्यक्ष के मीडिया समन्वयक नरेन्द्र सलूजा ने लिखा है कि जो भाजपाई कमलनाथ जी व नकुलनाथ जी को छिन्दवाड़ा से लापता बता रहे है वो यह बता दें कि इस महामारी में शिवराज जी बुधनी कितनी बार गये ? कितने भाजपा के केंद्रीय मंत्री अपने इलाक़ों में गये ? अभी लॉकडाउन चल रहा है, सभी नियमों का पालन कर रहे है, अपने क्षेत्रों में जनता से सम्पर्क में है। शिवराज जी और उनके मंत्री तो प्रदेश के कोरोना प्रभावित एक भी रेड ज़ोन ज़िले तक में नहीं गये और जो नये बने भाजपा नेता कहते थे कि ग्वालियर की जनता से हमारा 300 साल का नाता है वो तो ग्वालियर में हुई दुखद मौतों पर 300 km दूर से बैठकर संवेदनाएँ व्यक्त कर रहे है, उनसे भी ज़रा पूछ लो ? 

इसे भी पढ़ें: भोपाल सांसद प्रज्ञा ठाकुर ने कहा मैं अस्वस्थ हूँ कांग्रेस की प्रताड़नाओं का दंश झेल रही हूँ, बीजेपी उपाध्यक्ष ने कांग्रेस पर साधा निशाना

जानकारों की माने तो प्रदेश में होने वाले उपचुनाव को लेकर इस तरह के प्रोपोगंडा किया जा रहा है। जिससे आने वाले उप चुनाव में सत्ताधारी दल को इसका फायदा मिल सके। वही इन पोस्टरों के जरिए यह बताने की कोशिश भी की जा रही है कि पूर्व मुख्यमंत्री जिस छिंदवाड़ा मॉडल की बात करते थे सत्ता जाने के बाद वह वहाँ नज़र भी नहीं आ रहे है। लेकिन जिस प्रकार पिछले कुछ दिनों कांग्रेस नेता और खुद कमलनाथ प्रदेश की नव गठित शिवराज सरकार पर तीखे तीर छोड़ रही है। उसके चलते पोस्टर वार के जरिए उन्हें जवाब देने की सत्ताधारी दल की यह कोशिश है। 

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़