Prabhsakshi's Newsroom । सिद्धू का जगा पाकिस्तान प्रेम तो भाजपा ने उठाए सवाल

Prabhsakshi's Newsroom । सिद्धू का जगा पाकिस्तान प्रेम तो भाजपा ने उठाए सवाल

भाजपा ने करतारपुर साहिब के दौरे पर गए पंजाब कांग्रेस प्रमुख नवजोत सिंह सिद्धू द्वारा पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को कथित तौर पर अपना बड़ा भाई बताने को चिंता का विषय करार दिया। इतना ही नहीं कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मनीष तिवारी ने नाम लिए बिना ही सिद्धू पर निशाना साध दिया।

अक्सर विवादों में बने रहने वाले नवजोत सिंह सिद्धू ने पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान को बड़ा भाई बताकर एक नए विवाद को जन्म दे दिया। अभी कांग्रेस वैसे भी सलमान खुर्शीद की किताब के चलते सुर्खियों में थी लेकिन अब सिद्धू ने भाजपा को एक और मौका दे दिया। हालांकि सिद्धू को अपनी ही पार्टी के एक नेता का भी विरोध सहना पड़ा। हम बात रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह भी करेंगे। जिन्होंने पड़ोसियों के साथ बेहतर संबंध की बात कही और अंत में चर्चा आंध्र प्रदेश में हो रही बारिश की करेंगे। जिसमें अबतक 15 लोगों की मौत हो गई है। 

इसे भी पढ़ें: सिद्धू ही नहीं कांग्रेस पार्टी के 'बड़े भाई' हैं इमरान? बयान के बचाव में उतरे मंत्री और सांसद 

सिद्धू पर बरसी भाजपा

भाजपा ने करतारपुर साहिब के दौरे पर गए पंजाब कांग्रेस प्रमुख नवजोत सिंह सिद्धू द्वारा पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को कथित तौर पर अपना बड़ा भाई बताने को चिंता का विषय करार दिया। इतना ही नहीं कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मनीष तिवारी ने नाम लिए बिना ही सिद्धू पर निशाना साध दिया।

दरअसल, सिद्धू का एक वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है। जिसमें एक पाकिस्तानी अधिकारी इमरान खान की ओर से उनका स्वागत करते दिखे। इस पर सिद्धू ने कहा कि इमरान खान उनके बड़े भाई जैसे हैं और वह उन्हें बहुत प्यार करते हैं।

इस वीडियो के सामने आने के बाद भाजपा ने कांग्रेस पर निशान साधते हुए कहा कि उसे हिन्दुत्व में बोकोहरम और आईएसआईएस जैसे आतंकी संगठन दिखते हैं जबकि खान (इमरान) उसे भाई जान नजर आते हैं। भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि यह करोड़ों हिंदुस्तानियों के लिए एक गंभीर विषय है, चिंता का विषय है। सिद्धू का बयान मात्र एक घटना नहीं है, बल्कि यह कांग्रेस पार्टी का एक तरीका बन गया है, जिसमें उनके नेता हिन्दुत्व को निशाना बनाते हैं और पाकिस्तान का महिमामंडन करते हैं। 

इसे भी पढ़ें: बागी कांग्रेस विधायक अदिति सिंह का प्रियंका गांधी पर प्रहार, पूछा- आखिर चाहती क्या हैं? 

वहीं मनीष तिवारी ने कहा कि इमरान खान किसी का भी बड़ा भाई हो सकता है लेकिन क्या हम इतनी जल्दी पुंछ के जवानों की शहादत भूल सकते हैं। उन्होंने कहा कि इमरान खान किसी का भी बड़ा भाई हो सकता है लेकिन भारत के लिए वो पाकिस्तान के आईएसआई-मिलिट्री गठबंधन का हिस्सा है जो दबे पांव पंजाब में हथियारों और नशीले पदार्थों को ड्रोन के जरिए भेजता है और जम्मू-कश्मीर एलओसी के पार रोजाना आतंकवादियों को। क्या हम पुंछ के जवानों की शहादत भूल सकते हैं।

उत्तराखंड में होगा पांचवां धाम

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने उत्तराखंड के पिथौरागढ़ जिले में पड़ोसियों के साथ संबंधों का जिक्र किया और कहा कि हम अपने पड़ोसियों के साथ अच्छा संबंध चाहते हैं। भारत ने कभी किसी देश पर हमला नहीं किया, न ही इसने किसी विदेशी भूमि पर कब्जा किया है। पड़ोसियों के साथ अच्छे संबंध भारत की संस्कृति रही है, लेकिन कुछ लोग इसे नहीं समझते हैं। मुझे नहीं पता कि यह उनकी आदत है या स्वभाव।

वहीं उन्होंने शहीद सम्मान यात्रा के दूसरे चरण की शुरुआत की। उन्होंने कहा कि उत्तरांखड में सैन्य धाम भी बनेगा और अगर ऐसा होगा तो वो उत्तराखंड की धरती का पांचवां धाम होगा। 

इसे भी पढ़ें: अरे वाह भिया, छा गया अपना इंदौर फिर से, इंदौरी अंदाज में शिवराज सिंह चौहान ने की शहर की तारीफ

 

आंध्र प्रदेश में बारिश के चलते अबतक 15 की हुई मौत

आंध्र प्रदेश में वर्षाजनित घटनाओं में मरने वालों की संख्या बढ़कर 15 हो गई, वहीं कडप्पा और चित्तूर जिलों में भीषण बाढ़ के कारण अब भी कई लोग लापता हैं। अनंतपुरामु जिले के कादिरी शहर में घर ढहने से कम से कम चार लोगों की मौत हो गई।

बचाव अभियान में लगे अधिकारियों को आशंका है कि मलबे में कुछ अन्य लोग दबे हो सकते हैं। मुख्यमंत्री वाई. एस. जगनमोहन रेड्डी ने कडप्पा, अनंतपुरामु और चित्तूर जिलों में क्षति का आकलन करने के लिए हवाई सर्वेक्षण किया। सरकार ने बाढ़ में मरने वाले प्रत्येक व्यक्ति के परिजन को 5 लाख रुपए का मुआवजा देने की घोषणा की है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।