‘‘अरे वाह भिया, छा गया अपना इंदौर फिर से’’, इंदौरी अंदाज में शिवराज सिंह चौहान ने की शहर की तारीफ

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 20, 2021   17:45
‘‘अरे वाह भिया, छा गया अपना इंदौर फिर से’’,  इंदौरी अंदाज में शिवराज सिंह चौहान ने की शहर की तारीफ

चौहान ने ट्वीट किया, ‘‘अरे वाह भिया, छा गया अपना इंदौर फिर से। इंदौर अद्भुत है, गजब है। धन्य है इंदौर की जनता। इंदौर की जनता को मेरा प्रणाम, जिसने इंदौर को लगातार पांचवीं बार स्वच्छता में शीर्ष पर बनाए रखा।’’ इंदौर में स्थानीय बोलचाल की में भैया शब्द के लिए ‘भिया’ बोलने का चलन है।

भोपाल/इंदौर। केंद्र सरकार के स्वच्छ सर्वेक्षण में मध्य प्रदेश के इंदौर शहर के लगातार पांचवीं बार देश भर में अव्वल रहने पर गदगद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शनिवार को स्थानीय नागरिकों, सफाई कर्मियों, जन प्रतिनिधियों और स्वयंसेवी संस्थाओं को बोलचाल के इंदौरी अंदाज में बधाई दी और कहा कि इंदौर शहर को पहले स्थान पर रहने की आदत हो चुकी है। चौहान ने ट्वीट किया, ‘‘अरे वाह भिया, छा गया अपना इंदौर फिर से। इंदौर अद्भुत है, गजब है। धन्य है इंदौर की जनता। इंदौर की जनता को मेरा प्रणाम, जिसने इंदौर को लगातार पांचवीं बार स्वच्छता में शीर्ष पर बनाए रखा।’’ इंदौर में स्थानीय बोलचाल की में भैया शब्द के लिए ‘भिया’ बोलने का चलन है।

इसे भी पढ़ें: सौरभ मालवीय की नई पुस्तक 'अंत्योदय को साकार करता उत्तर प्रदेश’, बता रही UP की विकास गाथा

मुख्यमंत्री ने इस उपलब्धि पर शहर के आम नागरिकों, सफाई कर्मियों, जन प्रतिनिधियों और स्वयंसेवी संस्थाओं को बधाई देते हुए कहा, ‘‘इंदौर को (स्वच्छता के मामले में) पहले स्थान पर रहने की आदत हो चुकी है।’’ गौरतलब है कि इंदौर, स्वच्छ सर्वेक्षण 2021 के ‘‘सफाई मित्र सुरक्षा चैलेंज’’ में भी अव्वल रहा है। भोपाल में पत्रकारों से बात करते हुए चौहान ने कहा, ‘‘इस साल स्वच्छता सर्वेक्षण के तहत मध्य प्रदेश को 35 पुरस्कार मिले हैं। मैं इंदौर के लोगों, जनप्रतिनिधियों, इंदौर नगर निगम, सामाजिक कार्यकर्ता और स्वच्छता कर्मियों को इंदौर को लगातार पांचवी दफा देश का सबसे स्वच्छ शहर चुने जाने पर बधाई देता हूं।’’

 

उन्होंने कहा कि सफाई मित्र सुरक्षा चुनौती में भी इंदौर को पहला स्थान मिला है। उन्होंने कहा कि वार्षिक स्वच्छता सर्वेक्षण में भोपाल, उज्जैन, पचमढ़ी छावनी, होशंगाबाद, देवास और बड़वाह ने भी पुरस्कार जीते हैं। चौहान के अनुसार कचरा मुक्त शहर श्रेणी में इंदौर के अलावा भोपाल, उज्जैन, ग्वालियर, देवास, सिंगरौली, बुरहानपुर और धार ने भी पुरस्कार जीते हैं। उन्होंने कहा कि मध्य प्रदेश को मिले 35 पुरस्कारों में से शनिवार को मुख्य समारोह में 21 पुरस्कार प्रदान किये गये। उन्होंने कहा कि पिछले साल स्वच्छता सर्वेक्षण में प्रदेश को 27 पुरस्कार मिले थे।

इसे भी पढ़ें: झारखंड में रेलवे पटरियों पर बम विस्फोट होने से डीजल इंजन पटरी से उतरा

इस बीच, इंदौर को लगातार पांचवीं बार देश के सबसे स्वच्छ शहर का खिताब मिलने पर प्रसन्न सफाई कर्मियों ने शहर के राजवाड़ा क्षेत्र में आतिशबाजी की और ढोल की थाप पर नाचकर जोरदार जश्न मनाया। प्रदेश के नगरीय विकास एवं आवास मंत्री भूपेंद्र सिंह, गृह मंत्री एवं इंदौर के प्रभारी नरोत्तम मिश्रा, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष वी डी शर्मा, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ तथा भाजपा महासचिव एवं इंदौर निवासी कैलाश विजयवर्गीय ने भी इंदौर और प्रदेश की जनता को इस सम्मान के लिए बधाई दी। कमलनाथ ने मुख्यमंत्री चौहान से यह मांग भी की कि इंदौर समेत प्रदेश के जिन शहरों ने स्वच्छ सर्वेक्षण 2021 में पुरस्कार जीते हैं, उन शहरों के प्रत्येक सफाई कर्मी को 10,000 रुपये की प्रोत्साहन राशि प्रदान की जाए।

 

उन्होंने कहा, ‘‘ हम सभी के लिए गौरव का क्षण है कि मध्य प्रदेश का इंदौर शहर लगातार पांचवी बार स्वच्छता में देश में प्रथम आया है। इस उपलब्धि के लिए मैं इंदौर की जनता के जज्बे व समर्पण को प्रणाम करता हूं, नमन करता हूं। साथ ही मैं प्रदेश के मुख्यमंत्री से अपील करता हूं कि प्रदेश के जिन-जिन शहरों को स्वच्छता को लेकर पुरस्कार मिले हैं, उन सभी शहरों के प्रत्येक सफाईकर्मी को दस-दस हजार रुपये की राशि प्रोत्साहन व सम्मान स्वरुप देकर उनका हौसला बढ़ाएं, उनकी मेहनत व कर्तव्य परायणता को नमन करें।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।