राष्ट्रपति कोविंद ने कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में लोक सेवकों के योगदान की सराहना की

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 21, 2021   18:13
राष्ट्रपति कोविंद ने कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में लोक सेवकों के योगदान की सराहना की

राष्ट्रपति ने कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में लोक सेवकों के योगदान की सराहना की।राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने ट्वीट किया, ‘‘ लोक सेवा दिवस पर सभी वर्तमान एवं पूर्व लोक सेवकों को शुभकामनाएं। हमारी नौकरशाही को सही अर्थो में लौह ढांचा कहा गया है और आप कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में आधार स्तम्भ रहे हैं। ’’

नयी दिल्ली। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने लोक सेवा दिवस पर बुधवार को लोक सेवकों को बधाई दी और कहा कि कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में भारतीय नौकरशाही आधार स्तम्भ रही है। गौरतलब है कि भारत सरकार प्रति वर्ष 21 अप्रैल को‘लोक सेवा दिवस’ के रूप में मनाती है। आज ही के दिन 1947 में देश के पहले गृह मंत्री वल्लभ भाई पटेल ने राजधानी स्थित मेटकॉफ हाउस में प्रशासनिक सेवा अधिकारियों को संबोधित किया था। सरदार वल्लभ भाई पटेल ने लोक सेवकों को ‘‘देश का लौह ढांचा’’ करार दिया था।

इसे भी पढ़ें: नासिक हादसा: पीड़ितों के परिजनों को 5-5 लाख मुआवजे का ऐलान, CM ठाकरे ने दिए जांच के आदेश

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने ट्वीट किया, ‘‘ लोक सेवा दिवस पर सभी वर्तमान एवं पूर्व लोक सेवकों को शुभकामनाएं। हमारी नौकरशाही को सही अर्थो में लौह ढांचा कहा गया है और आप कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में आधार स्तम्भ रहे हैं। ’’ उन्होंने कहा, ‘‘ आपने पेशेवर उत्कृष्टता और लोक सेवा के प्रति समर्पण के मानदंडों को ऊंचा किया।’’ कार्मिक राज्य मंत्री जितेन्द्र सिंह ने कहा कि भारत कोरोना वायरस महामारी के खिलाफ लड़ाई में आगे है। भारत में लोक सेवकों ने कोरोना वायरस महामारी की अभूतपूर्व चुनौतियों से निपटने में काफी योगदान दिया है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।