ग्रामीण क्षेत्रों में खस्ताहालत में पड़े प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों को तत्काल सक्रिय किया जाए : मायावती

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मई 24, 2021   14:31
ग्रामीण क्षेत्रों में खस्ताहालत में पड़े प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों को तत्काल सक्रिय किया जाए : मायावती

मायावती ने सोमवार को ट्वीट किया, कोरोना वायरस का प्रकोप सुविधाहीन ग्रामीण क्षेत्रों में भी काफी फैल जाने से भारत सुर्खि़र्यों में आ गया है, फिर भी सरकारें इसकी उचित तैयारी व उससे जनता को राहत दिलाने के संबंध में ताबड़तोड़ घोषणाएं ऐसे कर रही हैं जैसे चुनाव के समय में हवा-हवाई वादों का प्रचलन है, अति-दुःखद।

लखनऊ। बहुजन समाज पार्टी सुप्रीमो मायावती ने ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना वायरस संक्रमण फैलने पर सरकार को घेरते हुये कहा कि उत्तर प्रदेश व अन्य राज्यों में चिकित्सकों व अन्य सरकारी कर्मचारियों के अभाव में जो प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र बेकार व खस्ताहाल पड़े हैं उन्हें तत्काल सक्रिय किया जाए ताकि ग्रामीण भारत के अधिसंख्य गरीब व बेसहारा लोगों को इसका लाभ फौरन मिल सके।

इसे भी पढ़ें: संघर्षविराम का जश्न मना रहे इजराइल और फलस्तीन- लेकिन क्या वास्तव में कुछ बदल पाएगा?

मायावती ने सोमवार को ट्वीट किया, कोरोना वायरस का प्रकोप सुविधाहीन ग्रामीण क्षेत्रों में भी काफी फैल जाने से भारत सुर्खि़र्यों में आ गया है, फिर भी सरकारें इसकी उचित तैयारी व उससे जनता को राहत दिलाने के संबंध में ताबड़तोड़ घोषणाएं ऐसे कर रही हैं जैसे चुनाव के समय में हवा-हवाई वादों का प्रचलन है, अति-दुःखद।

इसे भी पढ़ें: जांच में सहयोग करने पर परमबीर सिंह को नौ जून तक गिरफ्तार नहीं किया जाएगा: महाराष्ट्र सरकार

उन्होंने कहा, जबकि सख्त जरूरत है कि उत्तर प्रदेश व अन्य राज्यों में डॉक्टर व अन्य सरकारी कर्मचारियों के अभाव में जो प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र बेकार व खस्ताहाल पड़े हैं उन्हें तत्काल सक्रिय किया जाए ताकि ग्रामीण भारत के अधिसंख्य गरीब व बेसहारा लोगों को इसका लाभ फौरन मिल सके।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।