प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मन की बात कार्यक्रम में हिमाचल प्रदेश की चोन्जिन एन्गमो का नाम लिया यह हमारे प्रदेश के लिए गर्व की बात--- सुरेश कश्यप

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मन की बात कार्यक्रम में हिमाचल प्रदेश की चोन्जिन एन्गमो का नाम लिया यह हमारे प्रदेश के लिए गर्व की बात--- सुरेश कश्यप

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सुरेश कश्यप ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपनी मन की बात में नदियों का स्मरण करने की परंपरा पर बात की, प्राकृतिक खेती, लोकल फ़ॉर वोकल एवं हथकरघा के साथ साथ कई मुद्दों पर केंद्रित रहा। जिस प्रकार से देश मे डिजिटल लेन देन बड़ा और गरीबों के खाते में सीधा पैसा जाना शुरू हुआ है इससे भ्रष्टाचार पर रोक लगी है।

शिमला । भाजपा प्रदेश अध्यक्ष एवं सांसद सुरेश कश्यप, महामंत्री त्रिलोक जम्वाल, सचिव पायल वैद्या, प्यार सिंह कंवर एवं प्रवक्ता बलदेव तोमर ने भाजपा मुख्यालय दीपकमल चक्कर शिमला में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मन की बात सुनी।

 

 

इसे भी पढ़ें: कुल्लू में स्थापित होगा बुनकर सेवा व डिजाइन रिसोर्स केन्द्रः पीयूष गोयल

 

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सुरेश कश्यप ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपनी मन की बात में नदियों का स्मरण करने की परंपरा पर बात की, प्राकृतिक खेती, लोकल फ़ॉर वोकल एवं हथकरघा के साथ साथ कई मुद्दों पर केंद्रित रहा। जिस प्रकार से देश मे डिजिटल लेन देन बड़ा और गरीबों के खाते में सीधा पैसा जाना शुरू हुआ है इससे भ्रष्टाचार पर रोक लगी है। 

इसे भी पढ़ें: प्रदेश की 103622 लड़कियों के लिए वरदान साबित हुई बेटी है अनमोल योजना

उन्होंने कहा कि आजकल एक विशेष ई-ऑक्शन, ई-नीलामी चल रही है जिसमें मोदी जी को मिले उपहारों की बोली लगेगी, इस नीलामी से जो पैसा आएगा, वो ‘नमामि गंगे’ अभियान के लिये ही समर्पित किया जाएगा। 2 अक्टूबर को खादी को लेकर हम सब बढ़ावा देंगे।

इसे भी पढ़ें: भाजपा प्रदेश प्रवक्ता बलदेव तोमर ने कहा की कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष द्वारा प्रेस वार्ता में लगाए सभी आरोप हवा हवाई एव तथ्य से परे

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मन की बात कार्यक्रम में हिमाचल प्रदेश की चोन्जिन एन्गमो का नाम लिया यह हमारे प्रदेश के लिए गर्व की बात। यह नाम प्रधानमंत्री ने कुछ ही दिन पहले सियाचिन के दुर्गम इलाके में 8 दिव्यांग जनों की टीम ने जो कमाल कर दिखाया है उस संदर्भ में लिया।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।