UP के मुख्यमंत्री कार्यालय और IMD के बाद पंजाब कांग्रेस का ट्विटर अकाउंट हैक, नजर आ रहा सेम पैटर्न

Punjab Congress
प्रतिरूप फोटो
अनुराग गुप्ता । Apr 11, 2022 11:33AM
पंजाब कांग्रेस के अकाउंट से एनएफटी को लेकर एक ट्वीट किया गया है, जिसे हैकर्स ने पिन किया हुआ है। हैकर्स ने पंजाब कांग्रेस के अकाउंट से ट्वीट किया कि Beanz आफिशियल कलेक्शन के सामने होने के मौके पर हमने अगले 24 घंटे के लिए कम्यूनिटी के सभी एक्टिव एनएफटी ट्रेडर्स के लिए एक एयरड्राप खोल दिया है।

नयी दिल्ली। कांग्रेस की पंजाब इकाई का ट्विटर हैंडल हैक हो गया है। इसकी प्रोफाइट फोटो भी गायब है। पंजाब कांग्रेस का ट्विटर हैंडल ठीक वैसा ही नजर आ रहा है जैसा शुक्रवार की देर रात उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री कार्यालय और फिर शनिवार को भारत मौसम विज्ञान विभाग का हैंडल हैक हुआ था। हालांकि, खबर लिखे जाने तक कोई भी आपत्तिजनक ट्वीट नहीं किया गया है। 

इसे भी पढ़ें: मुख्यमंत्री योगी के कार्यालय का ट्विटर अकाउंट हैक, हैकर्स ने अकाउंट से किए थे 400 से 500 ट्वीट 

ट्विटर हैंडल हैक

पंजाब कांग्रेस के अकाउंट से एनएफटी को लेकर एक ट्वीट किया गया है, जिसे हैकर्स ने पिन किया हुआ है। हैकर्स ने पंजाब कांग्रेस के अकाउंट से ट्वीट किया कि Beanz आफिशियल कलेक्शन के सामने होने के मौके पर हमने अगले 24 घंटे के लिए कम्यूनिटी के सभी एक्टिव एनएफटी ट्रेडर्स के लिए एक एयरड्राप खोल दिया है। इस ट्वीट के साथ हैकर्स ने एक जिफ भी शेयर किया।

पंजाब कांग्रेस से साझा किया गया ट्वीट पहले भारत मौसम विज्ञान विभाग के अकाउंट से भी साझा किया गया था। हालांकि कुछ वक्त बाद भारत मौसम विज्ञान विभाग का ट्विटर अकाउंट आंशिक रूप से बहाल हो गया था। 

इसे भी पढ़ें: खुफिया जानकारी जुटाने की तलाश में चीन? लद्दाख के पास पावर ग्रिड में लगाई सेंध 

एक के बाद एक कई ट्वीट किए गए

पंजाब कांग्रेस के ट्विटर हैंडल से बिल्कुल उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री कार्यालय और भारत मौसम विज्ञान विभाग की ही तरह एक के बाद एक कई ट्वीट किए गए हैं। हालांकि, खबर लिखे जाने तक कोई भी आपत्तिजनक ट्वीट नहीं किया गया। पंजाब कांग्रेस के ट्विटर हैंडल पर 1.84 लाख से अधिक फॉलोअर्स हैं।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़