ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती की दरगाह पर अशोक गहलोत ने सोनिया गांधी की ओर से चढ़ाई चादर

Ashok Gehlot
इस अवसर पर सोनिया गांधी ने भेजे संदेश में कहा, ‘‘यह अकीदत की चादर हमारी गंगा-जमुनी तहजीब, कौमी एकता, भाईचारे, प्यार एवं मोहब्बत का प्रतीक है और एक शानदार परंपरा की निशानी है।’’

जयपुर। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की ओर से बृहस्पतिवार को अजमेर में ख्वाजा मुइनुद्दीन चिश्ती की दरगाह पर चादर चढ़ाई। मुख्यमंत्री गहलोत ने चिश्ती के 809वें सालाना उर्स में सोनिया गांधी की ओर से चढ़ाई और अकीदत के फूल चढ़ा कर देश एवं राज्य में खुशहाली, अमन एवं चैन की दुआ मांगी। मुख्यमंत्री गहलोत दोपहर में अजमेर पहुंचे। अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी में अल्पसंख्यक विभाग के अध्यक्ष नदीम जावेद दिल्ली से यह चादर लेकर अजमेर पहुंचे थे। 

इसे भी पढ़ें: नकवी ने प्रधानमंत्री मोदी की ओर से भेजी गयी चादर अजमेर शरीफ दरगाह पर चढ़ाई 

इस अवसर पर सोनिया गांधी ने भेजे संदेश में कहा, ‘‘यह अकीदत की चादर हमारी गंगा-जमुनी तहजीब, कौमी एकता, भाईचारे, प्यार एवं मोहब्बत का प्रतीक है और एक शानदार परंपरा की निशानी है।’’ उन्होंने अपने संदेश में कहा कि देश बहुत ही मुश्किल दौर से गुजर रहा है। उन्होंने कहा, ‘‘कोरोना वायरस महामारी जहां मनुष्यता पर बड़ा संकट बनकर आई, वहीं देश में ऐसी ताकतों को बल मिला, जिन्होंने हमारी सदियों पुरानी कौमी एकता, भाईचारे, मोहब्बत और इंसानियत के पैगाम को कमजोर करने और नफरत फैलाने में कोई कसर नहीं छोड़ी।’’ इस अवसर पर कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा सहित कांग्रेस के कई नेता मौजूद थे।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़